साध्वी की चिटठी जिसने डेरा प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम को भिजवाया जेल

चंडीगढ़। डेरा सच्चा सेादा सिरसा के प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम को बलात्कार के 15 साल पुराने मामले में अदालत द्वारा दोषी ठहराया गया है। जिस पत्र ने बाबा को सलाखेां के भिजवाया है, उस पत्र में साध्वी ने बाबा पर कई आरोप लगाए जिनके आधार पर बाबा को दोषी पाया गया है। वंही डेरा में बाबा की शिकार हुई एक साध्वी जिसने 2002 में प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी को पत्र लिखा था। जिसके आधार पर जांच और अब सीबीआई केार्ट ने बाबा को दोषी साबित किया है।
डेरा सच्चा सौदा की एक साध्वी का प्रधानमंत्री को लिखा पत्र यंहा पर पेश है कुछ अंश —–
सेवा में,
श्रीमान प्रधानमंत्री जी
विषयः बलात्कार मामले की जांच के संबध में।
श्रीमान जी,
मैं पजंाब की रहने वाली एक लड़की हूं, मैं डेरा सच्चा सौदा सिरसा (हरियाणा ) में साध्वी के तौर पर पिछले पांच साल से सेवा कर रही हूं। मेरे सिवाय इस डेरे में और भी सैंकड़ो लड़कियां है जो हर रोज 18 घंटे सेवा करती है। पर हमारा शारीरिक शेाषण होता है …. डेरे के महाराज गुरमीत सिंह लड़कियो के साथ बलात्कार करतें है। मैं बीए पास हूं …….. मेरा परिवार भी महाराज जी का अंधभक्त है ….. उनके कहने पर ही मैं साध्वी बनी। साध्वी बनने के दो साल बाद महाराज गुरमीत की एक खास चेली गुरजोत रात 10 बजे मेरे पास आई और कहा कि महाराज ने मुझे अपनी गु्फा में बुलाया है …….. और मैं बड़ी ख्ुाश हुई की महाराज ने खुद मुझे बुलाया है……..और मैं पहली बार महाराज के पास जा रही हूं ….मैं जब सीडिढ़या उतर के नीचे गई और महाराज की गुफा के अंदर दाखिल हुई तो देखा कि महाराज बेड पर बैठे हुए है …….. उनके हाथ में टीवी का रिमोट था …… और वेा ब्लू फिल्म देख रहे थे। उनके सिरहाने पर एक रिवाॅल्वर रखी हुई थी ……ये सारा कुछ देखकर मैं घबरा गई …………. मैने महाराज के ऐसे किरदार के बारे में कभी सेाचा भी नही था …….महाराज ने टीवी बंद कर दिया और मुझे अपने पास बिठा लिया ….. महाराज ने मुझे पानी पिलाया और कहा कि उन्होने मुझे इसलिए बुलाया है कि वो मुझे अपने करीब समझते है …. ये मेरा पहला अनुभव था। महाराज ने मुझे अपनी जकड़ में ले लिया और कहा कि वो मुझे दिल की गहराईयों से प्यार करते हैं….महाराज ने ये भी कहा कि वो मेरे साथ प्यार करना चाहतें है … महाराज ने कहा कि मैं उनकी चेली बनने के लिए अपना तन – मन – धन उनको सांैप चुकी हंू और उन्होने मेरी भेंट स्वीकार कर ली है….. जब मैने इस पर एतराज किया तो महाराज ने ये कहा कि इसमें केाई शक नही है कि मैं रब (भगवान) हूं …. महाराज बोले 1. श्रीकृष्ण भी भगवान थे और उनके पास – गोपियां थी, जिनके साथ वेा प्रेम लीला रचाते थे,फिर भी लोग उनको भगवान मानते है। इसमें कोई हैरान होने वाली बात नही है।5629
2. मैं तुम्हे इस रिवाॅल्वर से मार सकता हंू …. और यंहा तुम्हारी लाश भी दबा सकता हूं। तुम्हारे परविार वाले मेरे पक्के श्रद्वालु है और उन्हें मुझ पर अंधा विश्वास है। मुझे ये अच्छी तरह पता है कि तुम्हारे परविार वाले मेरे खिलाफ कभी नही जा सकते।
3.सरकारों पर भी मेरा अच्छा असर है, हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्री और पजंाब के कंेद्रीय मंत्री मेरे पास माथा टेकने आते हैं, वेा मेरे खिलाफ कोई कार्रवाई नही कर सकते। मैं तुम्हारे परिवार वालेंा को नौकरियों से हटवा दूंगा और अपने सेवादारों से उनको कंही मरा -खपा दूंगा। हम उनके कत्ल का कोई सबूत भी नही छोडें़गे। तुम्हे ये पता है कि पहले भी हमने डेरे के मैनेजर फकीर चंद को गुंडो से मरवाया है…. आजतक उसके कत्ल का कोई सुराग नही निकला। डेरे पर हर रोज एक करोड़ की आमदनी होती है……. इससे हम नेता पुलिस और जजो को खरीद सकते है…….. इसके बाद महाराज ने मेरे साथ जबरदस्ती की। महाराज पिछले 3 साल से ये सब कुछ करते आ रहे है। हर 25 -30 दिन बाद मेरी बारी आती है………मुझे ये भी पता चला है कि महाराज ने मुझसे पहले भी डेरे में मौजूद जिन लड़कियों को बुलाया है उनके साथ भी यही सब कुछ किया। इनमें से बहुत सारी लड़कियों की उम्र 35 -40 साल है। और वेा शादी की उम्र भी पार कर चुकी है …… उनके पास इस हाल में रहने के सिवा और कोई रास्ता नही बचा …. ज्यादातर लड़कियां पढ़ी लिखी है और वो बीए – एमए- बीएड की डिग्रिया प्राप्त है। सिर्फ इसलिए कि उनके परिवार वालों की महाराज पर अंधी श्रद्वा है। हम सफेद कपड़े पहनकर सिर पर पटका बांधकर रहतें है …. और मर्दों की तरफ देख भी नही सकतें, और महाराज के आदेश के मुताबिक आदमियों से 8-10फीट की दूरी से ही बात करतें है………………हम देखने वालों को देवियंा लगतंे है, पर हम वेश्याअेां की जिंदगी भोग रहे है। कई बार मैने अपने घरवालों को बताने की कोशिश की कि डेरे में सब कुछ अच्छा नही पर परिवार वालों ने मुझे डांट दिया और कहा कि डेरे से अच्छी जगह और कोई नही। क्येां कि महाराज की संगत में है। उन्होने कहा कि मैने डेरे के बारे में अपने मन में गलत सोच पैदा कर ली है……….घरवालों ने मुझे सदगुरु का नाम जपने के लिए कहा, मैं यंहा मजबूर हूं क्योंकि मुझे महाराज के हर हुक्म की पालना करना पड़ता है …….किसी लड़की को दूसरी लड़की से बात करने की इजाजत नही है …………..महाराज के आदेश के मुताबिक लड़कियंा अपने घरवालों से भी टेलीफोन पर बात नही कर सकतीं। अगर कोई लड़की डेरे की असलियत के बारे में किसी से बात करे तो महाराज के आदेश के मुताबिक उसको सजा दी जाती है। कुछ दिन पहले बठिंडा की एक लड़की ने महाराज के की करतूतो के बारे में बता दिया, इसके बाद सारी चेलियों ने उसकी उसकी पिटाई कर दी। उसकी रीढ़ की हडडी में फैक्रच की वजह से वा ेअब भी बिस्तर पर पड़ी हुई है, जिसके बाद उसके पिता ने डेरे की सेवादारी छोड़ दी और अपने घर चले गए। वो महाराज के डर और अपनी बदनामी की वजह से किसी को भी कुछ नही बता पा रहें है। इसी तरह से कुरुक्षेत्र की एक लड़की ने भी घर जाकर बताया।
अंत में साध्वी ने लिखा अबला।

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।