मुख्यमंत्री हुईं अभिभूत, जब रोबोट ने दी भामाशाह योजना की जानकारी

उदयपुर/जयपुर। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने राजस्थान डिजिफेस्ट के दौरान राज्य सरकार की ओर से लगाई गई प्रदर्शनी ‘राजस्थान टुडे टू टूमारो ‘ द डिजिटल जर्नी’ का अवलोकन किया। श्रीमती राजे ने प्रदर्शनी में ईयूरीज कंपनी द्वारा कस्टमाइज किए जा रहे ‘नाओ’ रोबोट से हिंदी व अंग्रेजी में बातचीत की। उन्होंने रोबोट से भामाशाह तथा डीबीटी योजना के बारे में पूछा तो रोबोट ने योजनाओं की जानकारी दी। रोबोट ने मुख्यमंत्री से पूछा कि आपको यहां कैसा लग रहा है तो मुख्यमंत्री ने जवाब दिया कि बहुत अच्छा लग रहा है।
श्रीमती राजे ने रोबोट के सिर पर हाथ रखा तो रोबोट ने गुलाब का फूल एवं रूमाल देकर उनका स्वागत किया। रोबोट ने इस दौरान योगाभ्यास करके दिखाया। मुख्यमंत्री ने रोबोट की सराहना करते हुए कहा कि यह किसी क्यूट से बच्चे जैसा है।
प्रदर्शनी में ही मुख्यमंत्री ने राजस्थान पुलिस की ओर से विकसित किए गए अभेद सॉफ्टवेयर को प्रदेश में लॉन्च किया और कहा कि यह सॉफ्टवेयर प्रदेश में अपराधों की रोकथाम में उपयोगी साबित होगा। अधिकारियों ने बताया कि सॉफ्टवेयर में अपराधी के फोटो, स्पीच, फिंगरप्रिंट आदि के आधार पर एक डाटाबेस तैयार होगा। अब तक इसका पायलट बेसिस पर अलवर में इस्तेमाल किया जा रहा था।
थ्री डी चश्मे से निहारा आमेर फोर्ट का मॉडल
मुख्यमंत्री ने थ्री डी चश्मा लगाकर थ्री डी मॉडल ऑफ आमेर फोर्ट को निहारा और वर्चुअल इमेजिंग का भी अवलोकन करते हुए वहां खड़े होकर उदयपुर सिटी पैलेस की वर्चुअल इमेज के साथ फोटो खिंचवाया। उन्होंने इस दौरान इंटीग्रेटेड हैल्थ मैनेजर सिस्टम की स्टॉल का अवलोकन किया और कहा कि ई हेल्थ कार्ड के माध्यम से लोगों की जान बच सकेगी और उन्हें भामाशाह योजना का लाभ मिल सकेगा। उन्होंने राजकाज सॉफ्टवेयर का भी अवलोकन किया। सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोरा ने बताया कि इस पोर्टल के जरिए इसमें कार्मिकों की समस्त डिटेल रहेगी और छुट्टी लेने जैसी अनेक प्रक्रिया ऑनलाइन ही संपन्न हो सकेगी।
डिजिफेस्ट में चयनित शिक्षकों को दिए टैबलेट
प्रदर्शनी के अवलोकन के दौरान मुख्यमंत्री श्रीमती राजे ने राजस्थान डिजिफेस्ट प्रतियोगिता में चयनित शिक्षकों को टैबलेट देकर पुरस्कृत किया। उन्होंने इस दौरान राजस्थान माध्यमिक शिक्षा परिषद के अधिकारियों से कहा कि वे ऎसे तकनीक व नवाचारों से शिक्षकों को प्रोत्साहित करें।
मुख्यमंत्री ने इस दौरान सिलिकोसिस पोर्टल का भी शुभारंभ किया तथा राजस्थली, ई-बाजार, आईवीवाईपी पोर्टल, राज-एसआईपीएफ पोर्टल, भामाशाह वॉलेट, सिंगल विंडो सिस्टम, ई ऑक्शन, ई देवस्थान सहित विभिन्न नवाचारों को प्रदर्शित करने वाली स्टॉल का अवलोकन किया और श्रीमती राजे ने प्रदर्शनी की सराहना की।
मुख्यमंत्री ने किया दो अन्नपूर्णा रसोई का लोकार्पण
मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम स्थल पर ही उदयपुर शहर को दो अन्नपूर्णा रसोई का तोहफा दिया। उन्होंने गृह मंत्री गुलाब चन्द कटारिया एवं पंचायती राज राज्य मंत्री धनसिंह रावत की उपस्थिति में फीता काटकर उद्घाटन करने के पश्चात टोकन कटाकर अपने हाथों से महिलाओं को भोजन परोसा। मुख्यमंत्री ने हाथों-हाथ यह भी पूछा कि-“खाना कैसा है“। इसी के साथ शहर में न्यूनतम मूल्य पर जरूरतमंद वर्ग के लिए भोजन उपलब्ध कराने वाली अन्नपूर्णा रसोई की संख्या 9 हो गई है।
पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज