राजस्थान : उच्च शिक्षा के क्षेत्र में राज्य सरकार ने किए अनेक नवाचार-माहेश्वरी

 उच्च शिक्षा मंत्री ने रूक्टा (राष्ट्रीय) के 56वें प्रांतीय अधिवेशन का किया शुभारम्भ

बीकानेर। उच्च, तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने कहा कि राज्य सरकार उच्च शिक्षा में और अधिक गुणवत्ता लाने के साथ, कॉलेज शिक्षकों की मांगों एवं समस्याओं के निराकरण की दिशा में कार्य कर रही है। माहेश्वरी सोमवार को पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय में राजस्थान विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) के 56वें प्रांतीय अधिवेशन के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रही थीं।

राजस्थान:गौशालाओं को 90 दिन की सहायता राशि दी जाएगी

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने कॉलेज व्याख्याताओं के पदनाम परिवर्तन की घोषणा की थी। इसकी क्रियान्विति अंतिम चरण में है। शीघ्र ही पदनाम बदलने संबंधी कार्रवाई पूर्ण हो जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा उच्च शिक्षा में अनेक नवाचार किए जा रहे हैं। ‘गुरु-शिष्य संवाद’ इनमें से एक है। जयपुर में इसकी पहली श्रृंखला के तहत कार्यक्रम आयोजित किया जा चुका है। इसे राज्य के अन्य जिलों में भी क्रियान्वित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ‘रूसा’ के तहत पहले चरण में 100 कॉलेजों को राशि प्रदान की गई है। दूसरे चरण में आधारभूत सुविधाओं की वृद्धि के लिए राशि स्वीकृति प्रक्रियाधीन है।

25 जनवरी को रिलीज होगी पद्मावत, अक्षय कुमार की पैडमैन से होगी टक्कर

 माहेश्वरी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा 1 हजार 248 पदों पर व्याख्याताओं की भर्ती प्रक्रिया प्रगतिरत है। आरपीएससी को महाविद्यालयी व्याख्याताओं के 935 पदों की भर्ती के लिए अभ्यर्थना भेजी गई है। यह भर्ती बिना इंटरव्यू, परीक्षा में मेरिट के आधार पर होगी। उन्होंने कहा कि पुस्तकालयाध्यक्ष एवं पीटीआई के सेवा नियमों में संशोधन किया गया है तथा शीघ्र ही इन पदों के लिए भर्ती होगी। व्याख्याताआें की डीपीसी शीघ्र किए जाने किए जाने संबंधी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि श्रेष्ठ कॉलेज शिक्षकों को सम्मानित किए जाने के लिए राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। इस वर्ष शिक्षक दिवस से स्कूली शिक्षा की तर्ज पर कॉलेज शिक्षा के श्रेष्ठ शिक्षकों के सम्मान की परम्परा प्रारम्भ की जाएगी।

राधिका आप्टे का नया बोल्ड फोटोशूट, सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

 रूक्टा के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. नारायण लाल गुप्ता ने कहा कि शिक्षक प्रवृत्ति से सरल होता है। अध्ययन, अध्यापन करवाना तथा विद्यार्थियों के चरित्र निर्माण की दिशा में कार्य करते हुए वह अपने दायित्वों का निर्वहन करता है। उन्होंने व्याख्याताओं की विभिन्न मांगें रखीं तथा इनके निराकरण का आह्वान किया। रूक्टा के अध्यक्ष तथा सहायक निदेशक (कॉलेज शिक्षा) डॉ. दिग्विजय सिंह ने कहा कि शिक्षा, शिक्षक एवं समाज आराधन के त्रिकोण हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि दो दिन के शैक्षिक मंथन के उपरांत प्रत्येक शिक्षक नई ऊर्जा के साथ, विद्यार्थियों के चारित्रिक उन्नयन की दिशा में अधिक बेहतर कार्य करेंगे।

IRCTC से आधार लिंक करने पर अब पाएं 10,000 रुपए कैश और फ्री में रेल टिकट

अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के अध्यक्ष प्रो. जेपी सिंघल ने कहा कि महासंघ दुनिया का ऎसा संगठन है, जो आज की व्यवस्था में युवाओं को दिशा देने के उद््देश्य से क्या पढ़ाया जाना चाहिए तथा शिक्षकों का दायित्व क्या होना चाहिए, के बारे में चिंतन करता है। उन्होंने संगठन की विभिन्न गतिविधियों के बारे में बताया तथा कहा कि संगठन 24 राज्यों के 1 हजार से अधिक महाविद्यालयों में कार्य कर रहा है। स्वागताध्यक्ष के रूप में उद्बोधन देते हुए पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बीआर छीपा ने कहा कि दो दिनों के अधिवेशन में शिक्षा की गुणवत्ता, बौद्धिकता एवं राष्ट्रीयता के बारे में मंथन होगा। मंथन से निकले निष्कर्ष विद्यार्थियों के चरित्र निर्माण में सहयोगी साबित होंगे।

पढ़ें: -मोबाइल उपभोक्ता इस तरह से आधार से लिंक करें अपना मोबाइल नंबर

इससे पहले अतिथियों ने मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलन कर अधिवेशन की विधिवत शुरूआत की। अतिथियों ने स्मारिका ‘कर्मण्येवाधिकास्ते’ का विमोचन किया। डॉ. विक्रमजीत ने स्मारिका से संबंधित जानकारी दी। समारोह में डॉ. गोपाल कृष्ण जोशी, महापौर नारायण चौपड़ा, महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. भगीरथ सिंह, डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, सहीराम दुसाद, गोकुल जोशी, अरविंद किशोर आचार्य, अशोक बोबरवाल, लखपत पीयूष, आनंद जोशी सहित अन्य जनप्रतिनिधि-अधिकारी मौजूद थे।

अब आधार लिंक करवाने की आखिरी तारीख 31 मार्च 2018

पढ़ें: – आखिर आपका आधार कार्ड कहां-कहां हुआ इस्तेमाल, ऐसे जाने

पाइएहर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook

Loading...