शहीद के परिजनेां केा उनके बच्चों की पढ़ाई के लिए खर्च की चिंता करने की जरुरत नही : थलसेनाध्यक्ष

जनरल रावत ने 87, 41 व 10आर्मड रेजिमेंट को दिया राष्ट्रपति सम्मान ध्वज 

सूरतगढ़ (राजस्थान)। थलसेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने मंगलवार को कहा कि भारतीय सेना की सभी रेजिमेंट आधुनिकीकरण के साथ तालमेल कर बेहतर कार्य कर रही है। सेना हर तरह की स्थिति में जवाब देने के लिए तैयार है और किसी भी तरह के हमले से डरने की जरुरत नही है। जनरल रावत सूरतगढ़ मिलिट्री स्टेशन पर मंगलवार को आयेाजित रेजिमेंट को राष्ट्रपति सम्मान ध्वज समारोह के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

सैन्य युद्वाभ्यास ‘अजेय वारियर 2017’ में येाग, क्रिकेट मैच के साथ हो रहे अनुभव सांझे

थलसेनाध्यक्ष रावत ने कहा कि भारतीय सेना कि किसी भी रेजिमेंट को राष्ट्रपति सम्मान ध्वज मिलने के बाद उसकी जिम्मेदारी और अधिक बढ़ जाती है।
शहीद सैन्य परिवारेां के बच्चों की शिक्षा पर होने वाले खर्च में कटौति के एक सवाल के जवाब में उन्होने कहा कि सेना में शहीदों के परिवारों के बच्चों के शिक्षा खर्च के बजट में कटौति की गई है, यह मामला हमोर2 ध्यान में है। लेकिन इन परिस्थितियेां में किसी भी शहीद के परिजनेां केा उनके बच्चों की पढ़ाई के लिए खर्च की चिंता करने की जरुरत नही है। कोई भी परिवार बच्चों की पढ़ाई के लिए चिंतित न हो, यह भारतीय सेना की नैतिक साहस से जुड़ा विषय है। इसके लिए सेना हर तरह की मदद की जरुरत है। जनरल रावत ने जम्मूकश्मीर में आंतकवाद पर कहा कि सेना की और से लगातार आपरेशन चलाया जा रहा है। वंही आपरेशन सद्भावना सहित अन्य गतिविधियों को भी संचालित किया जा रहा है।

दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए टीम इंडिया का हुआ ऐलान, इन खिलाड़ियों का हुआ चयन

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशरफ के इस बयान पर कि ‘‘ वे हाफिज सईद के साथ मिलकर चुनाव लडे़गें, इस पर जनरल रावत ने कहा कि आंतकियों को किसी भी परिस्थिति में बढ़ावा देना गलत है, यदि पाकिस्तान में आंतकी चुनाव का हिस्सा बन सकतें है तो भारत में भी आतंकवादियों को चुनाव प्रकिय्रा का हिस्सा बनना चाहिए। हम इस तरह के आंतकवादी संगठनों को बढ़ावा देने के खिलाफ है।
इससे पूर्व जनरल रावत ने भारतीय सेना को राष्ट्रपति सम्मान ध्वज प्रदान किया है। जनरल रावत ने मिलिट्री स्टेशन में राष्ट्रपति की और से 87, 41 और 10 आर्मड रेजिमेंट को माउंटेड परेड के बाद राष्ट्रपति के सम्मान ध्वज से नवाजा।IMG_1449
भारतीय महिला पॉयलट कैप्टन ऑद्रे दीपिका माबेन अब बेटी संग करेंगी 21 देशेां का सफर

रक्षा प्रवक्ता लेफिटनेंट कर्नल मनीष ओझा ने बताया कि समारोह में सप्त शक्ति कमान के जनरल अफसर कमांडिग इन चीफ लेफिटनेंट जनरल चेरिश मैथरान, चेतक कोर के जनरल अफसर कमांडिग लेफिटनेंट जनरल पीसी थिमैया, सहित अनेक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। इस समाराहे की मेजबानीी तीनो आर्मड रेजिमेंट के कर्नल आॅफ द रेजिमेंट जनरल विनोद शर्मा, मेजर जनरल एसएस महल व मेजर जनरल कुलप्रीत सिंह द्वारा की गई।
मोबाइल उपभोक्ता इस तरह से आधार से लिंक करें अपना मोबाइल नंबर

टी 72 मेन बैटल टैंकों की गरजना द्वारा भारतीय सेना की शक्ति का प्रस्तुतिकरण ब्रिगेडियर प्रवीण छाबड़ा, कमांडर सैंड वाइपर बिग्रेड के नेतृत्व में किया गया। इसी दौराान रेजिमेंट की टुकड़ियेां की अगुवाई उनके कमान अधिकारियों ने की। इन तीनो आर्मड रेजिमेंटों का राष्ट्रपति सम्मान ध्वज रेजिमेंटेां के वीर सैनिकों द्वारा पिछले तीन दशकों के दौरान की गई कठिन मेहनत, आत्म बलिदान व प्रंशसीय कार्य का ही परिणाम है। आपरेशन व शांति के दोनों वातावरण में इन रेजिमेंटों द्वारा की गई कठिन सेवाअेां का निर्वहन तथा वीर सैनिकों द्वारा किये गए उच्च बलिदान को राष्ट्रपति सम्मान ध्वज से पूर्ण पहचान मिली है।

भारत की बेटी ने पाकिस्तान को सिखाया सबक, पाक रक्षा मंत्रालय का टविटर अकाउंट हुआ संस्पेंड

उदयपुर को पर्यटकों का पसंदीदा अवकाश स्थल होने के लिये मिला राष्ट्रीय स्तर पर अवार्ड

पर्यटन : इन देशों 14 देशों में जमकर चलेगा भारतीय रुपया, बनाये घूमने का प्लान

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज