Guwahati : कैंसर की सामान्य जांच भी समय पर कराएं : एसीसीएफ

0
ACCF drives cancer awareness efforts in Morigaon to mark World Cancer Week

विश्व कैंसर दिवस सप्ताह : मोरीगांव में कैंसर जागरूकता कार्यक्रम

गुवाहाटी / मोरिगांव। श्रीमंत शंकरदेव संघ का 88 वां वार्षिक सम्मेलन आज असम के मोरीगांव में शुरू हुआ। इस चार दिवसीय वार्षिक सम्मेलन में असम कैंसर केयर फाउंडेशन (एसीसीएफ) द्वारा मुंह, स्तन सहित सभी तरह के कैंसर के बारे में जागरूकता के लिए विभिन्न प्रकार के आयेाजन किये गए। इसके साथ ही कैंसर की समय रहते स्क्रीनिंग के बारे में भी आम लोगों को अवेयर किया गया।

Guwahati : कैंसर रोकथाम में सकारात्मक भूमिका निभाएगा “प्लेज फॉर एक्शन” अभियान

ACCF drives cancer awareness efforts in Morigaon to mark World Cancer Weekश्रीमंत शंकरदेव संघ का 88 वां वार्षिक सम्मेलन में कैंसर केयर फाउंडेशन (एसीसीएफ) की और से सुनिश्चिित किया गया कि 30 साल की उम्र के बाद सामान्य कैंसर की जांच करांए और अन्य लेागों को भी इसके बारे में बताएं। इस दौरान एसीसीएफ की टीम, एनएसएस के युवाअेंा ने सम्मेलन में आने वाले लेागेां को तंबाकू के सेवन के दुष्प्रभाव के बारे में बताया और उनसे जानकारी भी ली।

इस अवसर पर असम कैंसर केयर फाउंडेशन (एसीसीएफ) के सीईओ वारा प्रसाद ने कहा कैंसर ने आज व्यापक रूप ले लिया है और असम में हर साल होने वाले नए कैंसर के मामलों की संख्या में भारी वृद्धि हुई है। इसका सबसे महत्वपूर्ण कारण यंहा पर वयस्क लेागों के बीच तंबाकू की अधिक खपत और स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों में आम कैंसर की जांच के लिए पर्याप्त जागरूकता की कमी है। सम्मेलन स्थल को पूरी तरह से तंबाकू मुक्त क्षेत्र भी बनाया गया ताकि आम जनता में सकारात्मक संदेश जा सके।

assam tobacco उन्होने बताया कि मोरीगांव में 6 से 9 फरवरी तक चलने वाले 88 वें वार्षिक सम्मेलन के माध्यम से एसीसीएफ  का उद्देश्य  उन लोगों तक पहुंचना है जो सम्मेलन भाग लेंगे और विभिन्न स्थानीय हितधारकों के साथ सहयोग करके उन्हें जागरूक करेंगे। आज मोरीगांव कॉलेज से राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने पंफलेट वितरण में मदद की। स्वयं सेवकों ने क्षेत्र में तंबाकू नियंत्रण को लागू करने के लिए पुलिस अधिकारी का साथ दिया। इस दौरान 5000 युवाओं की एक सभा में विशेषज्ञों ने तंबाकू नियंत्रण और मुंह के कैंसर के बारे में जानकारी दी।

विश्व कैंसर दिवस : भारत में तंबाकू उत्पादों की सरोगेसी से मासूमों की जान खतरे में —- !

यहां उल्लेखनीय है कि असम में 48.2 प्रतिशत वयस्क लोग तंबाकू उत्पादों का सेवन करते हैं जिसके कारण हर साल 32000 कैंसर के नए मामलों का पता चलता है। इस सम्मेलन के माध्यम से तंबाकू विरोधी कार्यक्रम 30 लाख स्थानीय लोगों तक पहुंचेगा, जिसमें एनएसएस स्वयंसेवकों व युवा समूह तंबाकू और कैंसर के प्रति जागरूकता को बढ़ावा देने में मदद कर रहें है।ACCF drives cancer awareness efforts in Morigaon to mark World Cancer Week

 सामान्य कैंसर के लिए तंबाकू नियंत्रण और निवारक उपायों के संदेश को पत्र, बैनर, होर्डिंग्स, युवा के साथ सीधी बात, झांकी ( स्वास्थ्य सेवा के 3 डी मॉडल, स्कूलों और सार्वजनिक स्थानों पर केाटपा, एसीसीएफ के जागरूकता अभियान के फोटो कोलॉज ) के रूप में प्रस्तुत  किया जा रहा है। इस दौरान चार दिनों के सम्मेलन में भाग लेने वाले लोगों के बीच नुक्कड़ नाटकों का आयोजन भी किया जाएगा। जिसमें तंबाकू से होने वाले कैंसर व अन्य  खतरों के बारे में जानकारी दी जा रही है।ACCF drives cancer awareness efforts in Morigaon to mark World Cancer Week

 जिला तंबाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ के सहयोग से सम्मेलन क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर पुलिस, युवा स्वयंसेवकों और साइनबोर्डों के माध्यम से केाटपा को लागू करा कर  “ तम्बाकू मुक्त क्षेत्र” बनाया गया है।assam tobacco

 

 

 

 

शासनतंत्र को पटरी पर लाने के लिए करना पड़ रहा है संघर्ष : मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply