पूर्व केंद्रीय मंत्री व सासंद सांवर लाल जाट का निधन, प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलि

अजमेर/जयपुर/नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय लोकसभा सदस्य सांवर लाल जाट का यहां एम्स में निधन हो गया। निधन हो गया है। वह 62 वर्ष के थे। पिछले माह जयपुर में  भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के कार्यक्रम में सांवरलाल जाट बेहोश होकर गिर पड़े थे। इसके बाद से ही उनकी तबीयत खराब चल रही थी। पहले जयपुर में और उसके बाद दिल्ली में उनका इलाज चल रहा था। एम्स के डॉक्टरों के मुताबिक जाट को दिल का दौरा पड़ा था, जिसकी वजह से उनके मस्तिष्क को नुकसान पहुंचा था। सांवरलाल जाट अजमेर से लोकसभा सांसद हैं। उनके निधन पर प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री सहित देश के अनेक नेताअेां ने उन्हे श्रद्धांजलि दी है। SANWAR LAL
उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताया है। सांसद और पूर्व मंत्री सांवरलाल जाट का निधन बीजेपी और राष्ट्र के लिए बड़ी क्षति है। जाट जल संसाधन राज्यमंत्री रहे हैं। मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘सांसद और पूर्व केन्द्रीय मंत्री सांवर लाल जाट के निधन से शोकाकुल हूं। यह भाजपा और देश का बड़ा नुकसान है। मेरी संवेदनाएं।’’ अपने शोक संदेश में प्रधानमंत्री ने कहा कि जाट ने गांवों और किसानों के कल्याण हेतु बहुत काम किया है।

लोकसभा में उन्हें श्रद्धांजलि
भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ पर सदन में विशेष चर्चा के बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सांवर लाल के निधन का शोक संदेश पढ़ा और फिर सदस्यों ने कुछ देर का मौन रखकर दिवंगत सदस्य को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद सदन की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई।
इस दौरान सुमित्रा महाजन ने कहा, ‘‘ हम अपने साथी के निधन पर गहरा दुख प्रकट करते हैं और मुझे विश्वास है कि शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करने में सदन मेरे साथ है।’’ उन्होंने सांवर लाल के लंबे राजनीतिक करियर का उल्लेख करते हुए कहा, ‘‘सांवर लाल जाट अजमेर संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे थे।

मुख्यमंत्री की सांवरलाल जाट के निधन पर संवेदना

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री, सांसद एवं राज्य किसान आयोग के चेयरमेन प्रो. सांवरलाल जाट के निधन पर शोक व्यक्त किया है।  श्रीमती राजे ने अपने संवेदना संदेश में कहा कि स्व. सांवरलाल जी एक सजग जनप्रतिनिधि और प्रदेश के बड़े किसान नेता थे। जीवन पर्यन्त उन्होंने किसानों, पशुपालकों, गरीब एवं पिछड़े सहित समाज के विभिन्न वर्गों के कल्याण के लिए समर्पित रहकर कार्य किया। उनके निधन से हम सभी कोअपूरणीय क्षति हुई है।  मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत की आत्मा की शांति तथा शोक संतप्त परिजनों को यह आघात सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है।

उनके बारे में
9 नवंबर 2014 से 5 जुलाई 2016 तक उन्होंने जल संसाधन राज्य मंत्री के रूप में केंद्र में काम किया है. सांवरलाल का जन्म 1955 में राजस्थान के अजमेर जिले के गोपालपुरा नामक गांव में हुआ था। उन्होंने वाणिज्य में स्नातकोत्तर करने के बाद राजस्थान विश्वविद्यालय में शिक्षक का कार्य किया। वे राजस्थान के अजमेर जिले की भिनाई विधानसभा क्षेत्र से तीन बार विधायक रह चुके हैं। 1993, 2003 और 2013 में वे राजस्थान सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। 2014 से अजमेर से लोकसभा चुनाव जीतने के बाद उन्हें मंत्री बनाया गया था, लेकिन बाद में मंत्रिमंडल में फेरबदल के दौरान हटा दिया गया था।

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।