धनतेरस 2017: 19 साल बाद बना शुभ योग, ऐसे करें खरीददारी

दीपावली से पहले ही सभी लेाग अपनी खरीददारी के लिए येाजना बना लेते है, कि उन्हे क्या खरीदना है और कहंा से। इसके साथ ही ग्रह योग भी देखकर बाजार का रुख करते है। इस बार धनतेरस पर 19 साल बाद शुभ योग बना है। इसके लिए पूरे विधि विधान से पूजा हो इसके लिए यंहा कुछ जानकारी सांझा कर रहें है:-

जियो का दिवाली धमाका, 399 रुपये के प्लान रिचार्ज पर फुल कैशबैक
दीपावली से पहले धनतेरस का खास महत्व होता है। यह दिन अबूझ मुहूर्त (अत्यंत शुभकारी) माना जाता है, लेकिन इस बार 17 को अक्टूबर को धनतेरस पर बन रहे पांच शुभ योग अत्यंत लाभ देने वाले रहेंगे। पांच शुभ योग 19 साल बाद एक दिन में रहेंगे। धनतेरस पर भगवान धन्वंतरि की पूजा की जाती है।
पूजा का शुभ मुहूर्त
अब फेसबुक पर घर बैठे खाना ऑर्डर की मिलेगी सुविधा

इस बार धनतेरस में पूजा करने का शुभ मुहूर्त शाम 7 :00 से 7:19 तक है। इसके अलावा रात 8 से 8:17 तक भी शुभ मुहूर्त रहेगा।
इस बार पंडित राम किशेार बतातें है कि धन तेरस पर इस मुहूर्त में शुभ कार्य, लेन-देन भी शुभ माना जाता है। शाम के समय प्रदोष काल (सांय कालीन पूजा के बाद) ज्वेलरी, इलेक्ट्रॉनिक सामान और लक्ष्मी-गणेश की प्रतिमा का खरीदारी का विशेष महत्व होता है।

दिवाली व छठ पर उतर रेलवे ने चलाई 156 स्पेशन ट्रेन, सफर होगा आसान

पंचाग के अनुसार दीपावली पर पांच शुभ योग बनने जा रहे हैं। इस बार धनतेरस सुबह से देर रात तक मंगलकारी और लाभदायक रहेगा। धनतेरस पर मंगलवार और प्रदोष का होना अति शुभ है।
धनतेरस पर पांच योग
चंद्रमा-मंगल की कन्या राशि में युति रहने पर लक्ष्मी योग निर्मित होगा।
सूर्य और बुध के भी इसी राशि में रहने बुधादित्य योग रहेगा।
रात में सूर्य के राशि परिवर्तन करने से तुला संक्रांति योग रहेगा।
इस दिन सूर्योदय से सर्वार्थ सिद्धि योग रहेगा
शाम को प्रदोष रहेगा। शाम को पूजा करने से सभी दोष दूर होते हैं।

राजस्थान :राज्य सरकार की मंशा हैं कि किसानों की आय 2022 दुगनी हो

रेलवे ने बदले IRCTC से तत्काल टिकट बुक करने के नियम, ये है बुकिंग का नया तरीका 

Tata Docomo का Airtel में विलय, एयरटेल को मिलेंगे 4 करोड़ नए उपभोक्ता

विकास के लिए केंद्र व राज्य सरकार संकल्पबद्वः केंद्रीय जल संसाधन राज्य मंत्री

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।

Loading...