बीकानेर : कलेक्टर कुमार पाल गौतम ने रात 8 बजे सादुल स्पोर्ट्स स्कूल का औचक निरीक्षण

0
Bikaner, collector Kumar Pal Gautam, at 8 pm, a surprise inspection of Sadul Sports School

बीकानेर। जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम ने मंगलवार को रात 8 बजे सादुल स्पोर्ट्स स्कूल का औचक निरीक्षण किया स्कूल में आधारभूत सुविधाओं का अभाव प्रत्यक्ष नजर आ रहा था छात्रों के बैठने और सोने का स्थान बहुत अच्छा नहीं था हॉस्टल के कमरे से बाहर तथा पूरे प्रांगण में प्रकाश व्यवस्था बिल्कुल नहीं थी जिला कलक्टर ने कहा कि इन व्यवस्थाओं में अच्छे खिलाड़ी तैयार करना बहुत मुश्किल भरा कार्य होगा।

गडकरी ने कहा कि अब भारत बदल रहा , बीकानरे को मिलें तीन नए राष्ट्रीय राजमार्ग
Bikaner News : Collector Kumar Pal Gautam at 8 o'clock, Sadul Sports School's surprise inspectionगौतम में उपस्थित छात्रों से संपूर्ण व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी हासिल करनी चाही तो छात्रों ने व्यवस्थाओं को लेकर असंतोष ही जताया उन्होंने कहा कि स्कूल में व्यवस्थाओं को ठीक करने के लिए शीघ्र ही आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।
जिला कलेक्टर ने स्कूल के वाइस प्रिंसिपल अमरपाल सिंह से कहा कि संपूर्ण जानकारी सहित बुधवार को कार्यालय में आए जहां एक बैठक कर स्कूल में और गुणात्मक सुधार के लिए कार्य किया जाएगा उन्होंने कहा कि स्कूल में अध्यापक सहित स्टाफ पूरा हो इसके लिए भी राज्य सरकार स्तर पर सकारात्मक प्रयास किए जाएंगे।

बीकानेर : गौतम के प्रयासों से पांच साल में पहली बार एक लाख के पार पहुंचे नरेगा श्रमिक
जिला कलेक्टर बने अध्यापक
स्कूल के निरीक्षण के दौरान जिला कलेक्टर ने बच्चों की किताब लेकर उनसे प्रश्न किए एक छात्र से पूछा कि कोयला और हीरा दोनों में क्या समानता है उपस्थित छात्र कोई जवाब नहीं दे पाए तो जिला कलेक्टर ही अध्यापक बन गए और उन्होंने कहा कि जो जितना दबाव सहन करता है वह हीरा बनता है जब वर्षों तक कोई चीज दबी रहती है तो वह कोयला बन जाती है और वही कोयला और अधिक वर्षों तक बना रहे तो हीरा बन जाता है ऐसे में हमें दबाव सहन करना होगा और हीरा बनना होगा तभी हम अपने परिजनों का सपना साकार कर सकेंगे आप लोग कई वर्षों तक अपने घरवालों से दूर रहकर कड़ी मेहनत के साथ यहां शिक्षा और खेल में महारत हासिल कर रहे हो और अधिक मेहनत करें सफलता आपको मिलेगी।
कलेक्टर साहब के साथ हो क्या
जिला कलेक्टर आवासीय सादुल स्पोर्ट्स स्कूल का निरीक्षण कर रहे थे इस दौरान जिला कलेक्टर के साथ चल रहे सहायक लेखा अधिकारी हेमंत व्यास से छात्रों ने पूछा कि आप भी जिला कलेक्टर के साथ है क्या व्यास द्वारा हां बढ़ने पर छात्रों ने कहा कि कलेक्टर साहब को बताओ कि हमें जो खाना मिलता है वह अच्छा नहीं है एक छात्र के बोलने के बाद आस पास खड़े सभी छात्रों ने आकर भी खाना अच्छा नहीं होने की बात कही।

राजस्थान : विवाह समारोह में पहुंची बॉलीवुड की हस्तियां

जयपुर : डेरा अनुयायियों ने लिया प्रदूषण रोकथाम का संकल्प

बीकानेर : गौतम के प्रयासों से पांच साल में पहली बार एक लाख के पार पहुंचे नरेगा श्रमिक

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

 

Leave a Reply