राजस्थान : जाटव समाज के छात्रावास एवं सामुदायिक भवन का शिलान्यास

0
33
Jatav community hostel, Ashok Gehlot,

जयपुर। मुख्यमंत्री (CM)अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा कि समाज के कमजोर, पिछड़े एवं वंचित वर्ग को आगे बढ़ाने के लिए राज्य सरकार पूरे समर्पित भाव से काम कर रही है। हमने कई ऎसी कल्याणकारी योजनाएं संचालित की हैं जिनका भरपूर लाभ इन वर्गों के लोगों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि डॉ. भीमराव अम्बेडकर विधि विश्वविद्यालय के लिए जल्द ही जमीन आवंटित की जाएगी। श्री गहलोत रविवार को मुख्यमंत्री निवास से वीसी के माध्यम से अखिल राजस्थान जाटव महासभा के जयपुर में छात्रावास एवं सामुदायिक भवन के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि जाटव समाज को छात्रावास एवं सामुदायिक भवन निर्माण के लिए वर्ष 2013 में हमारी सरकार ने रियायती दर पर भूमि का आवंटन किया था। मुझे खुशी है कि आज हमारी सरकार के समय ही इसका शिलान्यास हो रहा है। उन्होंने छात्रावास एवं सामुदायिक भवन निर्माण के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष से 5 लाख रूपए देने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 5 हजार की आबादी पर अंग्रेजी माध्यम के 1200 विद्यालय, 7 राजकीय अम्बेडकर छात्रावास, अजा-अजजा वर्ग की महिला उद्यमियों के स्किल अपग्रेडेशन जैसी बजट घोषणाओं से पिछड़े वर्गाें को समाज की मुख्यधारा में आने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य सुरक्षा की दृष्टि से यूनिवर्सल हैल्थ कवरेज जैसा महत्वपूर्ण कदम उठाया है। इससे उन्हेें 5 लाख रूपए तक का स्वास्थ्य बीमा मिल सकेगा। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि वे सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाएं।

श्री गहलोत ने कहा कि हमारी सरकार ने कोरोना का बेहतर प्रबंधन किया है। राजस्थान टीकाकरण में भी देश में सबसे आगे हैं। उन्होंने कहा कि लोग आगे बढ़कर टीका लगवाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बीते दिनों में देश के कई राज्यों में कोरोना संक्रमण बढ़ा है। कोरोना की जीती हुई जंग हम लापरवाही के कारण हार ना जाएं। इसके लिए सभी हैल्थ प्रोटोकॉल का पालन आवश्यक रूप से करें।

यह भी पढ़ें:  REET Exam 2021 : रीट परीक्षा तिथि में परिवर्तन होगा या नहीं, अंतिम निर्णय सरकार पर

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर का स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने ‘शिक्षित बनो, संघर्ष करो और आगे बढ़ो’ का नारा दिया था। उन्होंने कहा कि सभी समाज बाबा साहेब की इस सीख को आत्मसात करते हुए शिक्षा को बढ़ावा दें। वही समाज तरक्की करेगा, जो शिक्षा एवं तकनीक से जुड़ेगा।

नागरिक सुरक्षा एवं गृह रक्षा राज्य मंत्री भजनलाल जाटव ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत वंचित एवं पिछड़े तबकों को आगे बढ़ाने के लिए पूरी प्रतिबद्धता से काम कर रहे हैं। हाल ही में उन्होंने बजट में एससी-एसटी के सर्वांगीण विकास के लिए राजस्थान पैटर्न लागू करने की घोषणा की है। इसके तहत राजस्थान एससी-एसटी डवलपमेंट कानून बनाया जाएगा।

तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि मुख्यमंत्री की पहल पर करीब 8 साल पहले छात्रावास एवं सामुदायिक भवन के लिए रियायती दर पर मात्र 5 लाख रूपए में 2000 वर्ग मीटर जमीन उपलब्ध कराई गई थी। उन्होंने कहा कि यह भवन तैयार होने से प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को अध्ययन के लिए आवास सुविधा मिल सकेगी। उन्होंने भवन निर्माण के लिए सामाजिक सहयोग से 5 लाख रूपए की राशि उपलब्ध कराने की घोषणा की।

विधायक रामकेश मीणा, श्रीमती गंगा देवी एवं अखिल राजस्थान जाटव महासभा के पदाधिकारियों ने भी समारोह को संबोधित किया। महासभा के महासचिव रणजीत सिंह ने आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर विधायक भरोसीलाल जाटव, भरतपुर नगर निगम के महापौर अभिजीत कुमार, महासभा के अध्यक्ष नत्थी सिंह, उपाध्यक्ष खान सिंह, अतिरिक्त महासचिव अमरसिंह जाटव, जिला अध्यक्ष श्रीचंद जाटव, कोषाध्यक्ष पूरणमल, पूर्व अध्यक्ष घनश्याम बृजवासी एवं पूर्व विधायक मोतीलाल सहित अन्य गणमान्यजन उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें:  राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लगवाया कोविड का टीका