Adarsh Scam : आदर्श सोसायटी की 1498 करोड़ की संपतियां होगी कुर्क, निवेशकों की जमा पूंजी शीघ्र मिलेगी

0
57
Adarsh Credit Society Limited , Adarsh credit society news , Adarsh credit society bank , Adarsh Credit Cooperative Society, Money Laundering Money Laundering Act, Credit Cooperative Society, Adarsh credit society, Mukesh Modi, Investors, ED Jaipur, Adarsh Cooperative Society Scam,

जयपुर। देशभर में नामी क्रेडिट सोसायटी (Credit Cooperative Society) के घोटालों (Adarsh Scam)के मामलों में बढ़ती तेजी से निवेशकों को सकंट का सामना करना पड़ा रहा है। इन बंद होने या भागने वाली (Adarsh Credit Society Limited ) क्रेडिट को.ऑपरेटिव सोसाइटी (Society) में देश विदेश के लाखों निवेशकों का धन अटका पड़ा है। जिसके चलते कुछ निवेशक को सुसाइड तक कर चुके है। इसी तरह से राजस्थान (Rajasthan) सहित देशभर के बीस लाख से अधिक निवेशकों (Investors) का धन हड़पने वाली आदर्श क्रेडिट को.ऑपरेटिव सोसाइटी की 1489 करोड़ रुपए की चल और अचल संपतियों को कुर्क करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने 47500 से अधिक पृष्ट की चार्जशीट न्यायालय (Court) में पेश की है।

इसके साथ ही चार्जशीट में आदर्श क्रेडिट को.ऑपरेटिव सोसाइटी (Adarsh Credit Cooperative Society) के मुख्य आरोपी मुकेश मोदी (Mukesh Modi) और डायरेक्टर्स सहित 124 लोगों को इसमें आरोपी बनाया गया है। ईडी के कुर्की आदेश की पुष्टि एफएमएलए न्याय निर्णय अथॉरिटी, नई दिल्ली ने की है। यह अभियोजन शिकायत राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, उतरप्रदेश, उतराखंड, हरियाणा, नई दिल्ली राज्यों में फैले 1489 करोड़ रुपए की चल और अचल संपतियों की कुर्की के लिए चार्जशीट दायर की गई। आदर्श घोटाले (Adarsh Cooperative Society Scam) की जांच के दौरान ही ईडी ने 7 अक्टूबर 2019 को आदर्श सोसाइटी (Adarsh Cooperative Society) की 1489 करोड़ की संपत्ति अटैच की थी। न्याय निर्णय अधिकरण (PMLA) नई दिल्ली ने इस अटैचमेंट की पुष्टि की थीए जिसके बाद ईडी ने 2020 के जुलाई-अगस्त में देश के 7 राज्यों के 19 जिलों में संपत्तियों को कब्जे में ले लिया था।

 

आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी निवेशकों को मिलेगी जमा पूंजी

देशभर से लाखों निवेशकों की जमा पूंजी मिलने के आसार अब बनते दिख रहे है। लंबे समय से चली आ रही जांच के बाद अब ईडी ने अपनी चार्जशीट फाइल कर दी है। जिसमें सोसायटी से जुड़े लोगों को आरोपी बनाया गया है। इसमें कुछ संपतियों को कुर्क किया जाएगा। इसके साथ ही निवेशकों की जमा पूंजी मिलने का रास्ता भी जल्द साफ हो जाएगा। अधिक ब्याज दर देकर लुभाया आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी (Adarsh Credit Cooperative Society) नेे अधिक ब्याज (Interest) दर देकर निवेशकों को लुभाकर लोगों को निवेश कराया, इसकी पुष्टि भी जांच में हुई है। इसके साथ ही परिवार के सदस्यों, सहयोगियों और अन्य लोगों को गैर कानूनी तरीके से ऋण देने की जानकारी भी सामने आई है।

2018 से मामला लंबित

2018 में एसओजी ने 28 दिसंबर को आदर्श सोसाइटी (Adarsh Society) के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। इसके बाद 22 मार्च 2019 को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (Money Laundering Act) के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया था।

More News : Adarsh Credit Society LimitedAdarsh credit society news , Adarsh credit society bank , Adarsh Credit Cooperative Society, Money Laundering, Money Laundering Act, Credit Cooperative Society, Adarsh credit society, Mukesh Modi, Investors,  ED Jaipur, Adarsh Cooperative Society Scam,