बीकानेर : अवैध खनन और हथकड़ शराब वाले क्षेत्रों का जिला कलक्टर ने किया निरीक्षण

0
1

बीकानेर। जिला कलक्टर (District Collector) नमित मेहता और जिला पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा मंगलवार को कोलायत तहसील के दौरे पर रहे। इस दौरान उन्होंने तहसील क्षेत्र में अवैध माइनिग (illegal mining) और अवैध एवं हथकड़ शराब के बारे में जमीनी हकीकत को देखा।

जिला कलक्टर राड़ो की ढाणी, गंगापुरा, टोकला और छनेरी गांव में ग्रामीणों से रूबरू हुए और समझाइश की कि अवैध शराब और हथकड़ शराब किसी भी सूरत में नहीं निकाली जाए। उन्होंने कहा कि शराब के धंधे में लिप्त लोगों के विरूद्ध सख्त कारवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर कोई हथकड़ शराब व अवैध शराब का कारोबार करते है, उसकी सूचना पुलिस एवं जिला प्रशासन को दी जाए। सूचना देने वाले का नाम पूर्णतया गोपनीय रखा जाएगा और उसे एक बहुत इनाम भी दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जो लोग घरों के अन्दर शराब बना रहे है उसे तुरंत प्रभाव से बंद कर दिया जाए। उन्होंने उपखण्ड अधिकारी को निर्देश दिए कि गांवों में अगर कोई इस धंधे में लिप्त पाए जाते है तो संबंधित जिम्मेदार अधिकारी के विरूद्ध कारवाई की जाए। गांव टोकला में बताया गया कि सोमवार को ही इस गांव में अवैध शराब की बिक्री करने वालों के विरूद्ध कारवाई की गई थी।

ग्रामीणों ने यह भी बताया कि एक साल पहले इस गांव में शराब पीने पर पाबंदी लगाई थी। इस नियम का उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना लगाया जाता था। इस पर जिला कलक्टर ने कहा कि पहले के तरह ही गांव में अब शराब बंदी का निर्णय लेकर उदाहरण पेश करे। अगर गांव में शराब बेचना, निकालना और पीना बंद कर दिया जाता है तो इस गांव के बारे मुख्यमंत्री को जानकारी दी जाएगी। उन्होंने टोकला गांव में ग्राम पंचायत का भवन बनाने के लिए विकास अधिकारी को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत भवन के लिए शीघ्र भूमि तलाश करे ताकि भवन तैयार हो सके। उन्होंने यहां मनरेेगा में कार्य स्वीकृत करने के भी निर्देश दिए।

अवैध माइनिंग का किया निरीक्षण

जिला कलक्टर और पुलिस अधीक्षक ने गंगापुरा, मटोवतान,रोडा की ढाणी क्षेत्र में क्ले की माइनिंग का निरीक्षण किया और माइनिंग इंजीनियर को निर्देश दिए कि खनन वाले क्षेत्रों में पिलर लगाकर साइनिंग बोर्ड लगाए। उन्होंने गंगापुरा में वैध व अवैध माइनिंग की जांच करने के निर्देश दिए और कहा कि क्षेत्र में जितनी भी खाने है उसकी सूची उपलब्ध करवाई जाए। उन्होंने गांव मटोवतान में क्ले की माइनिंग को देखा और पूछा कि यह किसकी खान है। उन्हें बताया गया कि यहा अवैध माइनिंग हो रही है। इस पर उन्होंने माइनिंग इंजीनियर को निर्देश दिए कि ऐसी कितनी खाने है उसकी सर्वे रिपोर्ट प्रस्तुत करे। उन्होंने कहा कि अवैध खनन से राजस्व और राॅयल्टी का नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि जितनी भी मशीने अवैध खनन में लगी है उसे जब्त किया जाए। उन्होंने उपखण्ड अधिकारी को भी निर्देश दिए कि राजस्व पटवारी लगाकर अवैध खनन करने वालो की रिपोर्ट तैयार कर प्रस्तुत की जाए।

इस दौरान उपखण्ड अधिकारी प्रदीप कुमार, सी.ओ. पुलिस ओमप्रकाश किलानिया, विकास अधिकारी दिनेश सिंह भाटी, तहसीलदार हरी सिंह, आबकारी निरीक्षक एच.आर.राठौड़, माइनिंग इंजीनियर आर.एस. बलारा साथ रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here