21 C
Jaipur
Thursday, February 25, 2021

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2021 का मंचन वर्चुअल प्लेटफ़ॉर्म पर 19–28 फरवरी से

Jaipur News ‘धरती के सबसे बड़े लिटरेरी शो’ और ‘साहित्य का कुंभ’ कहे जाने वाले (Jaipur literature festival 2021) जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2021 का शुभारम्भ नए वर्चुअल प्लेटफ़ॉर्म पर होगा, जिसे आइकोनिक डिग्गी पैलेस होटल की तर्ज पर तैयार किया गया है, जो श्रोताओं को फेस्टिवल में मौजूद होने का आभास कराएगा| ‘शब्दों के जश्न’ के तहत फेस्टिवल विविध क्षेत्रों की आवाज़ों को सामने लाएगा, जो निडरता, रोमांच, जोश और भावनाओं की कहानी बयाँ करेंगे|

शानदार वक्ताओं और बेमिसाल सत्रों के साथ, फेस्टिवल में इस साल 300 लेखक व कलाकार शिरकत करेंगे| ये लगभग 25 भारतीय और 18 अंतर्राष्ट्रीय भाषाओँ के साथ 23 से ज्यादा देशों का प्रतिनिधित्व करेंगे| इनमें नोबेल पुरस्कार, मैन बुकर, पुलित्जर, साहित्य अकादेमी, डीएससी प्राइज और जेसीबी प्राइज विजेता शामिल हैं|

भारत की संपन्न, वैविध्यपूर्ण और रंगीन साहित्यिक विरासत जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के 14वें संस्करण का केंद्र है, इसलिए फेस्टिवल में देश के विविध भाषाओँ के वक्ता शामिल होंगे| इस साल फेस्टिवल में हिंदी, उर्दू, मलयालम, असमी, संस्कृत, ब्रज, बंगाली, तमिल, तेलुगु, ओड़िया, भोजपुरी, खासी, कश्मीरी, राजस्थानी, पंजाबी, संथाली, बोडो, मणिपुरी, सिन्धी, नेपाली, मराठी, कोंकणी, गुजराती, डोगरी और कन्नड़ बोलने वाले वक्ता शामिल होंगे| फेस्टिवल में बड़ी संख्या में विदेशी भाषाओँ के वक्ता भी अपनी बात रखेंगे, जिनमें प्रमुख हैं: अंग्रेजी, इतालवी, आयरिश, नेपाली, डच, एस्तोनियन, भूटानी, सिंहला, अफ़्रीकी, पोलिश, रूसी, हीब्रू, फ्रेंच, जर्मन, स्पेनिश, स्वीडिश, वेल्श, कुर्दिश इत्यादि|

फेस्टिवल के 14वें संस्करण का शुभारम्भ शुक्रवार, 19 फरवरी को साइंस म्यूजियम ग्रुप के डायरेक्टर व चीफ एग्जीक्यूटिव सर इआन ब्लेचफोर्ड और साइंस म्यूजियम लंदन के हेड ऑफ़ कलेक्शन व प्रिंसिपल क्यूरेटर डॉ. टिली ब्लीथ द्वारा द आर्ट ऑफ़ इनोवेशन विषय पर उद्घाटन संभाषण से होगा|

इस साल फेस्टिवल के वक्ताओं में शामिल हैं माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर और बिजनेस मैगनेट बिल गेट्स; अमेरिकी अर्थशास्त्री, जन नीति निरीक्षक और नोबेल पुरस्कार विजेता जोसेफ स्टिगलिट्स; महिला शिक्षा की पाकिस्तानी कार्यकर्त्ता और नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफ़ज़ई; मैन बुकर जीतने वाले लेखक डगलस स्टुअर्ट; पत्रकार और पुलित्ज़र पुरस्कार विजेता जेफरी गेटलमैन|

नेशनल फिल्म अवार्ड विजेता अदाकारा प्रियंका चोपड़ा जोनास ने सफल टीवी सीरीज क्वानटीको के माध्यम से अमेरिकन टीवी पर दस्तक दी, और इतिहास में पहली ऐसे भारतीय अदाकारा बन गईं, जिन्होंने अमेरिकन टीवी पर मुख्य भूमिका निभाई| अपनी किताब अनफिनिश्ड के माध्यम से उन्होंने अपने जीवन और सिनेमा के कई पन्नों को खोला है| लेखिका और स्तंभकार शोभा डे के साथ चर्चा में वो यूएस में बिताई किशोरावस्था, फिर भारत आकर नेशनल और इंटरनेशनल ख़िताब (मिस इंडिया और मिस वर्ल्ड) जीतने और फिल्मों के सफ़र पर रौशनी डालेंगी|

भारतीय संगीत के परस्पर संबंधित स्कूलों पर एक गहन सत्र होगा, जिसमें शास्त्रीय और लोक संगीत के साथ-साथ हमारे डिजिटल युग में लोकप्रिय शैलियों के मेल पर चर्चा होगी। जाने-माने कवि, लेखक, गीतकार, केन्द्रीय फिल्म बोर्ड के चेयरमैन, कम्युनिकेशन स्पेशलिस्ट प्रसून जोशी और स्कोलर, गायिका, संगीतकार, लेखिका और सामाजिक कार्यकर्त्ता विद्या शाह संगीत परम्परा की समझ, उनके विकास और विस्तार पर चर्चा करेंगे| वे सांस्कृतिक विविधता के साथ-साथ इस विशाल विरासत की आंतरिक एकता और इसके नए खतरों पर भी प्रकाश डालेंगे।

यह भी पढ़ें:  सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री गहलोत को लिखा पत्र, सरकारी नौकरियों में गुर्जर समेत 5 जातियों को 5 प्रतिशत आरक्षण का उठाया मुद्दा
यह भी पढ़ें:  राजस्थान : भाजपा के विजन डाॅक्यूमेंट में शहरों के विकास के लिए किए 40 महत्वपूर्ण वादे

बिट्रेड बाय होप की सह-लेखिकाएँ नमिता गोखले और मालाश्री लाल अपनी नई किताब के माध्यम से असाधारण कवि और लेखक माइकल मधुसुदन दत्त की उथल-पुथल भरी ज़िंदगी बयां करेंगी| ये किताब मधुसुदन की खंडित पहचान की पीड़ा के साथ ही महाकाव्य और गाथा जैसी साहित्यिक विधाओं में उनके उल्लेखनीय योगदान को दर्शाती है। पठन और चर्चा के एक दिलचस्प सत्र में गोखले और लाल का साथ देंगे बहुआयामी कलाकार ओरून दास|

लेखिका और जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल की को-डायरेक्टर नमिता गोखले ने कहा, “जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2021 का वर्चुअल संस्करण एक शानदार अनुभव है, जहां हम दुनिया भर के महान लेखकों को प्रस्तुत करते हैं। इसे एक सजीव पुस्तकालय, या वास्तव में ‘जीवन का पुस्तकालय’ कहा जा सकता है। वर्ष 2020 की चुनौतियों और बाधाओं ने वर्ष 2021 के लिए हममें एक नया जोश भर दिया|”

लेखक और फेस्टिवल के को-डायरेक्टर विलियम डेलरिम्पल ने कहा, “महामारी और दुनिया भर में हो रही राजनीतिक उथल-पुथल के बावजूद, जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ने अपना विस्तार करते हुए, खुद को दुनिया के सबसे लोकप्रिय और रोचक ऑनलाइन प्रोग्राम के रूप में तैयार किया| हालाँकि इस साल जयपुर सामान्य से ज्यादा शांत रहेगा, लेकिन साहित्य के प्रति हमारी प्रतिबद्धता में कोई बदलाव नहीं आया है और हम अपने सबसे मजबूत प्रोग्राम के साथ तैयार हैं|”

टीमवर्क आर्ट्स के मैनेजिंग डायरेक्टर और जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के प्रोडूसर संजॉय के. रॉय ने कहा, “जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2021 की लिस्ट शानदार है, और इसे हम अब तक की सबसे बेमिसाल लिस्ट कह सकते हैं, जिसमें नोबेल पुरस्कार विजेता जोसेफ स्टिग्लिज़ और मलाला युसूफज़ई, बिल गेट्स और प्रियंका चोपड़ा, साथ ही संगीत, नृत्य, थियेटर, फ़ूड, संवहनियता, अविष्कार और विविध क्षेत्रों को शामिल किया गया है|”

उन्होंने आगे कहा, “हम ऑनलाइन डिजिटल अनुभव को बढ़ाने के लिए फेस्टिवल के ‘घर’ डिग्गी पैलेस के रंग और विविधता को जीवित करने की कोशिश करेंगे|”

टीमवर्क आर्ट्स की प्रेजिडेंट प्रीता सिंह ने कहा, “जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के इस संस्करण पर काम करना एक बड़ी चुनौती है, जो वास्तव में अद्वितीय और पथप्रदर्शक है। हमारा ये वर्चुअल संस्करण हमारे मौजूदा श्रोताओं के साथ ही, दूर-दराज के श्रोताओं तक भी अपनी पहुँच बनाएगा| फेस्टिवल के भविष्य को ध्यान में रखते हुए, हमने साहित्य प्रेमियों के साथ-साथ उन ब्रांडों के लिए भी एक शानदार अनुभव तैयार किया है, जो अब तक शब्दों और विचारों के इस जश्न में हमारे साझेदार बनते रहे हैं|”

एक विशेष सत्र ‘द कनेक्शंस एंड डिसकनेक्शंस बिटवीन इंडिया एंड चाइना’, में लेखक और जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के को-डायरेक्टर विलियम डेलरिम्पल, सेंटर फॉर ग्लोबल एशिया के डायरेक्टर और इतिहास के प्रोफेसर तानसेन सेन से चर्चा करेंगे| उनका एकसूत्रीय एजेंडा होगा भारत-चीन के रिश्तों को समझना और इनके ऐतिहासिक और समकालीन संबंधों में संभावनाएं तलाशना|

पैट्रिक रेडेन कीफ़ अपने शब्दों के माध्यम से दिलचस्प कहानियां बुनने में माहिर हैं| द न्यू योर्कर के स्टाफ राइटर का अवार्ड जीतने वाले कीफ हमें अपनी लेखन-प्रक्रिया, प्रेरणा के बारे में बताएँगे| सत्र संचालन करेंगे लेखक और साहित्यिक संपादक फिंटन ओ’टूल|

यह भी पढ़ें:  वंदे भारत मिशन, चार्टर और एयर बबल उड़ानों से लाए जा रहे हैं प्रवासी राजस्थानी

पर्यावरण पर ज़बरदस्त किताब वी आर द वेदर: सेविंग द प्लैनेट्स बिगिन्स एट ब्रेकफास्ट लिखने वाले पुरस्कृत लेखक जोनाथन सेफरन फोएर बताते हैं कि किस प्रकार अपनी रोजमर्रा की आदतों को बदलकर हम अपने पर्यावरण को बचा सकते हैं| निजी कहानियों, तथ्यों और उदाहरणों के माध्यम से वो लोगों को बताते हैं कि अभी कुछ चीजों का त्याग करके हम लम्बे समय तक सुरक्षित रह सकते हैं| पत्रकार और पुरस्कृत लेखक जेफरी गेटलमैन से चर्चा में वो भविष्य में आने वाली पर्यावरणीय चुनौतियों पर रौशनी डालेंगे|

यह भी पढ़ें:  गहलोत सरकार के शासन में भ्रष्टाचार, अपराध का बोलबाला : नड्डा

डिजिटल लैंडस्केप आज रचनात्मक क्षमता के लिए सबसे रोमांचक स्थान है, जिसमें कथानकों की विविधता के माध्यम से क्रांतिकारी बदलाव आया है। स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म के लगातार विकसित होने से ऑनलाइन कंटेंट की मांग बढ़ी है| एक दिलचस्प सत्र में लेखक विक्रम चंद्रा, फिल्म निदेशक और स्क्रीनराइटर सुधीर मिश्रा, विक्रम मोटवानी और नेटफ्लिक्स इंडिया की वाईस प्रेसिडेंट मोनिका शेरगिल शामिल होंगे| वाणी त्रिपाठी टिकू उनसे बात करते हुए वर्तमान संभावनाओं पर प्रकाश डालेंगी|

एक अन्य सत्र में, प्रसिद्ध डायरेक्टर और प्रोडूसर विधु विनोद चोपड़ा और पटकथा लेखक अभिजात जोशी अपने श्रोताओं को बॉलीवुड के सबसे महान फिल्मकारों में से एक के जीवन और काम की असाधारण यात्रा पर ले जाएँगे। पिछले तीन दशकों में, चोपड़ा ने कम बजट की फिल्मों से लेकर भारतीय फिल्म उद्योग के सबसे बड़े प्रोडक्शन हाउस की स्थापना करने तक का सफ़र तय किया| उन्होंने दर्शकों के लिए कई बड़ी फिल्मों का निर्माण किया, और कई उभरते कलाकारों को ऊँचाइयों तक पहुँचाया| पत्रकार और कलाकार वाणी त्रिपाठी टिकू सत्र का सञ्चालन करते हुए चोपड़ा के जीवन के कई पहलुओं से श्रोताओं का परिचय कराएंगी|

स्पोर्ट एंड बिलियन ड्रीम: वर्ष 2021 इस मायने में भी काफी महत्वपूर्ण है कि पिछले साल स्थगित हुए ओलंपिक और पैराओलंपिक खेलों के साथ ही मैन’स वर्ल्ड कप का आयोजन भी होना है| और फरवरी 2022 में वीमेन’स वर्ल्ड कप भी है| हालिया ऑस्ट्रेलिया सीरिज ने साबित कर दिया है कि खेलों के माध्यम से एक नया भारत बोल रहा है: ये भारत न तो विभाजित है, न ही दूषित, और ये अपने आपमें धर्म-निरपेक्ष और जीवंत हैं| इस सत्र में भारत के कुछ श्रेष्ठ खिलाडी और पैरा-एथलीट्स हिस्सा लेंगे, जैसे पुलेला गोपीचंद और मानसी जोशी| ये नए भारत की तस्वीर हमारे सामने रखेंगे| सत्र सञ्चालन करेंगे प्रसिद्ध लेखक और खेल पत्रकार बोरिआ मजुमदार, जिन्होंने क्रिकेट और ओलम्पिक पर लिखी अपनी किताबों में कई कहानियां दर्ज की हैं|

जयपुर बुकमार्क (जेबीएम), फेस्टिवल की बी2बी इकाई, अपने 8वें संस्करण के साथ प्रस्तुत है| दुनिया भर के प्रकाशकों, अनुवादकों, लिटरेरी एजेंट्स, पुस्तक विक्रेता और लेखकों के लिए जेबीएम एक ऐसा मंच बन गया है, जहाँ एकत्र हो वो ‘बिजनेस’ की बात कर सकते हैं| जयपुर बुकमार्क 2021 में ऐसे सत्रों का आयोजन होगा, जहाँ प्रकाशक महामारी के दौर की चुनौतियों और समाधान पर चर्चा करेंगे|

फेस्टिवल साहित्य के मात्र लिखित और बोले गए शब्दों पर ही रोचक चर्चाएँ प्रस्तुत नहीं करता, बल्कि इसमें सांस्कृतिक प्रदर्शन भी शामिल है, जो इसे एक ज्वलंत सांस्कृतिक पृष्ठभूमि देता है। इसके ‘ऑन-ग्राउंड’ स्वरूप की तरह ही, वर्चुअल संस्करण में भी श्रोता ‘सुबह-संगीत’ का आनंद ले सकते हैं, जिसमें दुनिया के प्रसिद्ध संगीतकार प्रस्तुतियां देंगे| श्रीनगर से गायक और गीतकार अली सफुद्दीन, जो वादी में अपनी रूहानी आवाज़ की बदौलत मशहूर हैं; बहुमुखी और लोकप्रिय गायक हरप्रीत; उत्तराखंड से पहाड़ी लोक गायिका हिमाली मोऊ; देश-विदेश में ख्यातिप्राप्त शुभेन्द्र राव; ब्रिटेन में रहने वाली गायिका और संगीतकार सुप्रिया नागराजन; लोकप्रिय हिन्दुस्तानी शास्त्रीय गायक उज्ज्वल नागर|

यह भी पढ़ें:  राजस्थान : भाजपा के विजन डाॅक्यूमेंट में शहरों के विकास के लिए किए 40 महत्वपूर्ण वादे

जयपुर म्यूजिक स्टेज भी हमेशा की तरह नेशनल और इंटरनेशनल प्रतिभाओं को मंच प्रदान करेगा| म्यूजिक स्टेज पर इस साल अपने सुरों का जादू चलाने आएँगे द अनिरुद्ध वर्मा कलेक्टिव, इस शास्त्रीय बैंड का नेतृत्व दिल्ली के पियानिस्ट, गीतकार और प्रोडूसर अनिरुद्ध वर्मा करते हैं| बिलोंगिंग: बेलाफेस्ट-कोलकाता के ऑनलाइन म्यूजिकल कोलेब्रेशन में जैसन ओ’रुर्के और दीपमॉय डे शामिल हैं| नई दिल्ली से गायक-गीतकार और गिटारिस्ट ध्रुव विश्वनाथ; लोकप्रिय कुतले खान प्रोजेक्ट; इजरायली संगीतकार शेय बें त्जुर; उत्तरी आयरलैंड से पुरस्कृत गायक जैक वार्नोक|

यह भी पढ़ें:  कोरोना गाईडलाइन्स का उल्लघंन करने वालों से 6 करोड 88 लाख रूपये से अधिक का जुर्माना वसूला -महानिदेशक पुलिस अपराध

ये फेस्टिवल उन भागीदारों के समर्थन से संभव बनता है, जो इसके आदर्शों पर विश्वास करते हुए कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।

इस साल फेस्टिवल को ‘प्रोटेक्शन’ डिटोल ने और ‘सपोर्ट’ जेसीबी प्राइज़ ने दिया है|

डीआगो फेस्टिवल के साथ ‘सेलिब्रेशन पार्टनर’ के रूप में जुड़ा है और प्राइमस इसका ‘नॉलेज पार्टनर’ बना है| द डेलिगेशन ऑफ़ द यूरोपियन टू इंडिया, द यूरोपियन यूनियन प्राइज फॉर लिटरेचर, कल्चरल रिलेशन प्लेटफार्म और क्रिएटिव यूरोप फेस्टिवल के पार्टनर बने हैं और रॉयल नोर्विजियाई एम्बेसी जेबीएम के ‘कंट्री पार्टनर’ हैं|

अमेज़न फेस्टिवल के ‘ऑनलाइन सेल्स पार्टनर’ के रूप में साथ आया है| इस कोलेब्रेशन के बारे में बात करते हुए अमेज़न इंडिया की डायरेक्टर, कैटेगरी मैनेजमेंट प्रज्ञा शर्मा ने कहा, “अमेज़न.इन में हम पढ़ने और सीखने की दिलचस्पी पैदा करना चाहते हैं| जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के ऑफिसियल ऑनलाइन बुकस्टोर बनकर हम बेहद उत्साहित हैं| हम पाठकों के विशाल चयन के लिए किताबों का एक मजबूत पोर्टफोलियो बनाने के साथ ही उन्हें खरीदारी का बेहतरीन अनुभव भी देना चाहते हैं| जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2021 के बेस्टसेलिंग लेखकों के माध्यम से ये लिस्ट और भी आकर्षक बनेगी|”

Jaipur literature festival 2021 सेशन पार्टनर होंगे

ब्रिटिश काउंसिल, ब्रिटिश काउंसिल वेल्श, बैंक ऑफ़ बड़ोदा, नॉर्थ इंडिया ऑफिस यूएस एम्बेसी, द एम्बेसी ऑफ़ आयरलैंड, एम्बेसी ऑफ़ इटली इन इंडिया, Etsy, नेटफ्लिक्स, Oyo, द यूनिवर्सिटी ऑफ़ यॉर्क-यूके, यूनिवर्सिटी ऑफ़ शिकागो|

इस साल मीडिया पार्टनर बनेंगे: अमर उजाला, राजस्थान पत्रिका, मोर्निंग स्टैण्डर्ड, संडे स्टैण्डर्ड, बिजनेस स्टैण्डर्ड | साथ ही फेस्टिवल के मैगजीन पार्टनर होंगे द वीक और स्ट्रीमिंग पार्टनर
डेलीहंट | रेडियो पार्टनर होंगे फीवर एफएम, रेडियो नशा, रेडियो वन और माय एफएम|

अन्य पार्टनर हैं: आगा खान फाउंडेशन, आर्ट्स काउंसिल ऑफ़ नोर्देर्न आयरलैंड, डिपार्टमेंट ऑफ़ आर्ट्स एंड कल्चर, जेन मिचल्सकी, पेंगुइन रैंडम हाउस, पब्लिक हेल्थ इंजिनियरिंग डिपार्टमेंट, राजस्थान टूरिज्म, द स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया| पेंगुइन फेस्टिवल के ‘वर्चुअल रीडिंग रूम’ के रूप में साथ आएगा|

Stay Connected

3,706FansLike
716FollowersFollow
206SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

Hello Rajasthan