हरिहर मंदिर में श्रीमद भागवत कथा : धन की सेवा से तन की सेवा श्रेष्ठ : पंडित मारूतिनंदन

0
जयपुर। श्यामनगर स्थित हरिहर मंदिर में जारी श्रीमद् भागवत सप्ताह ज्ञानयज्ञ के तहत गुरुवार को चौथे दिन श्रीकृष्ण जन्म कथा, भगवान श्रीराम जन्म कथा तथा राजा अमराीश का उपाख्यान हुआ। कथा वाचक मारूतिनंदन शास्त्री ने श्रद्धालुओं को राजा अमरीश की ईश्वर भक्ति का उपाख्यान सुनाया। उन्होंने कहा कि धन की सेवा से तन की सेवा श्रेष्ठ होती है। उन्होंने कहा कि जहां तन होता है वहां मन भी होता है इसलिए तन, मन और धन से सेवा हो जाती है। इसके लिए पंडित मारूतिनंदन शास्त्री ने राजा अमरीश की कथा का वर्तांत सुनाया।
एयर इंडिया का शानदार आॅफर: बुजुर्गों को आधे किराये में कराएगा हवाई सफर
उन्होंने कहा कि अमरीश सात द्वीपों का राजा था। उस राजा के अंदर भगवान के प्रति अटूट विश्वास था। राजा अमरीश ठाकुर जी की सेवा स्वयं करता था। वह अपने राजकार्यों में ध्यान न देकर तन व मन भगवान को देता था और धन समाज सेवा में लगाता था। राजा अमरीश की भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान हमेशा उसके साथ रहते थे। एक बार राजा अमरीश ने विद्धान पंडितों को भोजन पर बुलाया। उन्होंने ऋषि दुर्वासा को भी भोजन पर आमंत्रित किया, मगर वे थोड़ी देर से राजा के महल में पहुंचे। जब ऋषि दुर्वासा महल में पहुंचे तब राजा अमरीश ब्राह्मणों की आज्ञा से भगवान के चरणामृत ले रहे थे। यह देख ऋषि दुर्वासा को लगा कि राजा ने उनका इंतजार किए बगैर ही स्वयं भोजन कर लिया। स्वयं को अपमानित महसूस करते हुए ऋषि दुर्वासा क्रोधित हो गए और उन्होंने राजा अमरीश को दंडित करने के लिए एक राक्षसी कृत उत्पन्न कर उसे राजा को मारने के लिए प्रेरित किया। यह अलौकिक दृश्य देख भगवान ने अपने भक्त राजा अमरीश की रक्षा के लिए सुदर्शन चक्र को प्रकट कर राक्षसी को नष्ट कर दिया।
स्वर्गीय कैलाश बिहारी माथुर की स्मृति में आयोजित श्रीमद भागवत कथा सप्ताह के चौथे दिन कथा व्यास मारूतिनंदन शास्त्री ने भगवान श्रीकृष्ण जन्म का भी वर्तांत सुनाया। उन्होंने कहा कि पृथ्वी का भार उतारने व धर्म की रक्षा के लिए परमात्मा कृष्ण रूप में अवतरित हुए थे। कथा के अंत में ब्रज में नंदोत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान सैकड़ों की संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरित किया गया। कथा आयोजक श्रीमती मंजुला माथुर ने बताया कि यह कथा 15 अपै्रल तक रोजाना अपराह्न 3 बजे से 6 बजे तक मंदिर प्रागंण में होगी।

IRCTC से आधार लिंक करने पर अब पाएं 10,000 रुपए कैश और फ्री में रेल टिकट

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।  Like कीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज

 

Leave a Reply