श्रीगंगानगर : दुष्कर्म मामले में एसआई रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफतार

बीकानेर। बीकानेर संभाग के श्रीगंगानगर जिले के घड़साना पुलिसथाना के एसआई को दुष्कर्म के मामले में पच्चीस हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने रंगे हाथेा बुधवार को पकड़ा है। इसने घड़साना थाना में दुष्कर्म मामले में जांच को लेकर रिश्वत की मांग की थी।

यह भी पढ़िए :पूर्व मंत्री और विधायक को दुष्कर्म के मामले में गिरफ्तार करने की मांग, पीडि़ता ने दी आत्मदाह की चेतावनी
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अपर पुलिस अधीक्षक रजनीश पूनियां ने बताया कि अमीन खा, निवासी कांकराला ने परिवाद दिया था कि सितंबर 2017 में बलात्कार के एक मामले में कार्यवाही करने की एवज में जांच अधिकारी द्वारा तीस हजार रुपए की मांग की जा रही है, जबकि रिश्वत न देने की स्थिति में इस मामले में कार्यवाही न करने की बता कही गई। जिस पर टीम ने शिकायत का सत्यापन कराया। जिस पर घड़साना पुलिसथाना के एसआई बच्चन सिंह भाटी को एक मुश्त पच्चीस हजार रुपए देने की बात कही गई। इस पर पुलिस अधिकारी ने उसे अपने मकान पर आने को कहा। इस पर टीम ने आज अमीन खान की और से पच्चीस हजार रुपए देते हुए उसके मकान से गिरफतार कर लिया गया।
पूनियां ने बताया कि एसआई के बीकानेर जिलेे के जयमलसर में स्थित मकान पर भी जांच करने के लिए टीम भेजी गई है। टीम इससे पूछताछ कर रही है।

रिश्वतखोर एसआई के मकान से एक लाख बरामद

दुष्कर्म पीडि़ता के केस में आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की एवज में पीडि़ता की ओर से 25 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार एसआई बच्चन सिंह के किराये के मकान से एसीबी ने एक लाख रुपए की नगदी भी बरामद की है। यह नगदी बंद कमरे में रखी हुई थी। इस संबंध में एसीबी की टीम ने एसआई बच्चन सिंह से पूछताछ भी की, लेकिन इस नगदी के बारे में एसआई को संतोषजनक जवाब नहीं दे पाये। एसीबी सूत्रों के अनुसार एसआई बच्चन सिंह को ट्रेप करने से पहले सत्यापन के दौरान की गई रिकॉर्डिंग में एसआई, थानाधिकारी विक्रम सिंह चौहान को भी रिश्वत की रकम में हिस्सा देने की बात कह रहा है। एसीबी के अधिकारी इस मामले में एसएचओ की भूमिका की जांच पड़ताल कर रहे हैं।

यह भी पढ़िए :प्रभारी मंत्री की मौजूदगी में करौली विधायक ने सांसद पर लगाए रिश्वतखोर के आरोप