रूह-ए-सुख आश्रम में रक्तदान शिविर में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

21

खून की कमी से मरीज की मौत नही हो
जयपुर/कोटा। प्रदेशभर में खून की कमी से कोई मौत न हो इसके लिए नियमित रक्तदान शिविर जरुरी है और हर इंसान को इसका हिस्सा बनना चाहिए। नियमित रक्तदान से खून की कमी से होने वाली मौतों में कमी आएगी। उक्त बात डेरा सच्चा सौदा के रूह-ए-सुख आश्रम, संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां के 51 वें जन्मदिवस के उपलक्ष में रविवार को विशाल रक्तदान शिविर व नामचर्चा डेरा पर राजस्थान इकाई के 45 मैंबर संर्पूणसिंह इन्सां कही। रक्तदान शिविर में 1923 यूनिट रक्तदान एकत्रित हुआ।

बड़ी खबर: इस तारीख से काम करना बंद कर देगा SBI का ATM कार्ड
उन्होने कहा कि डेरा प्रभारी जगदीश इन्सां ने बताया कि इस दौरान जन्मदिवस के उपलक्ष में शाह सतनाम ग्रीन एस वेलफेयर फोर्स विंग के सौजन्य से रक्तदान शिविर भी आयोजित किया गया। इसमें जयपुर के तीन ब्लड बैंकों की टीमों ने रक्त संग्रह किया। इस शिविर में डेरा के जयपुर, अलवर, सीकर, नीम का थाना, श्रीमाधोपुर, खंडेला, गोविंदगढ़ (चैमू), तिजारा, कोटपुतली, बहरोड़, गोविंदगढ़ (अलवर), शाहजहांपुर, अजीतपुर, किशनगढ़ (अलवर), उदयपुर वाटी, झुंझनुं, भादरपुर, चिडवई, मुबारिकपुर, राजगढ़ (अलवर), देसुला ब्लॉक से हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। वंही संगरिया, चुरु, श्रीकोलायत, बीकानेर, श्रीगंगानगर, गुरुसर मोडिया, बुधरवाली, हनुमानगढ़, श्रीगगानगर इत्यादि स्थानों पर नामचर्चा का आयोजन किया गया। इसके साथ ही युवाओं, महिलाओं ने बढ़ चढकर रक्तदान किया। इसमें युवाओं, महिलाओं ने बढ़ चढकर रक्तदान किया।

केंद्र सरकार किसानेां की बात करती है और वो रोज आत्महत्या कर रहें है: राहुल गांधी
रक्तदान समिति के प्रभारी राजेंद्र इन्सां ने बताया कि रक्तदान के लिए श्रद्धालुओं के जुनून को देखते हुए ब्लड बैंक की टीमें भी दंग रही गईं। इन ब्लड बैंक ने अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति होने के बाद जब रक्त संग्रह करना बंद कर दिया तो ब्लड डोनेट नहीं कर पाने के कारण दर्जनों श्रद्धालुओं की रुलाई फूट पड़ी।

खुशखबरी: ड्राइविंग लाइसेंस सहित अन्य कागज डिजिटल रूप में भी होंगे वैध
जयपुर के अलावा कोटा के शाह सतनाम दयापुर धाम में भी रक्तदान शिविर व नामचर्चा हुई। इसमें कोटा, बूंदी, केशोरायपाटन, टोंक, बारां, इटावा, रावतभाटा, भवानी मंडी, पनवाड़ ब्लॉक की हजारों की संख्या में साध-संगत पहुंची। राजस्थान प्रदेश 18 जिलों में डेरा सच्चा सौदा के 97 ब्लॉक हैं। जन्मदिवस के उपलक्ष में 14 अगस्त को इन सभी ब्लॉकों में डेरा अनुयायियों द्वारा करीब दो लाख पौधे रोपित किए गए।

 

 

 

 

 

अब एक्टिंग के जलवे बिखेरेंगी राधे मां, नया अवतार देखकर उड़ेंगे होश

अब ट्रेन का सफर हुआ आसान, मोबाइल से बुक होंगे जनरल टिकट

शर्मनाक: वाणिज्य कर विभाग की महिला डिप्टी कमिश्नर से दुष्कर्म

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

 

 

 

21 COMMENTS

  1. डेरा द्वारा समय-समय पर मुफ्त खूनदान कैम्प आयोजित किये जाते हैं,जिनमें थैलेसीमिया पीड़ितों,आर्मी जवानों के लिए ब्लड बैंकों में खून एकत्रित किया जाता है, जहां से ज़रूरतमंदों को आवश्यकता पड़ने पर खून मिल सके।

  2. ये डेरा समर्थक अभी भी अच्छे कार्य कर रहे हैं जोकि हर किसी का ध्यान इस ओर खींच रहे हैं कि बाबा राम रहीम तो अच्छे कार्य करने को प्रेरित करते हैं… क्या उन पर लगे आरोप सही हैं ???
    क्योंकि इतना कुछ होने के बाद भी पढ़े लिखे लोग अभी भी उनका जन्मदिन मना रहे हैं….. और Google पर देखो तो उनको ही trend किया जा रहा है।,आखिर में सच क्या है…. यहाँ पर आकर प्रश्नचिन्ह? लग जाता है।।

  3. लाखों संख्या में लाखों पौधे लगाना बेमिसाल है ।
    डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी पुरे विश्व में इंसानियत के कार्य कररहे हैं

  4. Blood donation camp which is the lesson teached by Dr. MSG .Highness is none other than Dera Sacha Sauda (Haryana) Chief Saint Dr. Gurmeet Ram Rahim Singh Ji Insan..

  5. Really a great humanity work done by Dera sacha sauda. Well done 👍👍 DSS Volunteers. It’s only possible with guidance of GURU JI Saint Dr. MSG.

  6. That is called humanity in real sense. Donating blood regularly for thalasemmia patients is a task of kind hearted and humanity lovers only. Proud on such true saint on whose inspiration lakhs of dera volunteers are doing himanithuman tasks.

  7. Amazing!!
    The spirit of donating blood among Dera Sacha Sauda followers is commendable n Hats off to Saint Dr MSG who has given them this spirit of enthusiasm for serving society

  8. Blood donation is a highly apericiable work done by followers of Dr MSG. These people giving the new life to many persone as per their spiritual master’s teachings.

  9. Highly appreciable initiative to save lives of patients suffering from lack of blood
    Really baba g is role model of lakhs people then I think truth has been manipulated & let’s wait for justice

  10. पैसा पाने के लिए हर किसी को उत्साहित होते देखा है दुनिया में पर खून दान के लिए यहाँ तो…कमाल का जज्बा है जिंदगी बचाने का 👍👍

  11. Great initiative starts by Saint Dr Gurmeet Ram Rahim Singh ji insan which is amazingly followed by his Dera Sacha Sauda followers. They celebrate the birthday of Dera’s chief with welfare works like Blood donation, tree plantation, also give clothes, ration, toys, tricycle to needy people on this day. 👏👏 very unique and best way of celebrate occasion with humanity.

  12. In today’s selfish era members even of blood relationship, don’t give blood to their relatives.on the other hand DSS followers are eager to donate blood everytime selflessly. salute to this zeal.👏

  13. बाबा राम रहीम जी के जन्मदिन के अवसर पर उनके अनुयायियों द्वारा रक्त दान किया गया।इनकी श्रद्धा को मेरा शत शत नमन। ये लोग त्यौहार को या कोई खुशी भरा जश्न हो उन्हें मानवता भलाई के साथ ही मनाते है।

  14. Who are these people ?
    Who get crazy for the welfare works?
    These simple questions must be arising in one’s mind when one will have a first look on this article. Well , these are the followers of dera sacha sauda and are recognised as the sons and daughters of st.dr.gurmeet ram rahim g who were so strongly motivated for welfare works and in today’s world they have made their unique identity and can always be observed people in need.

Leave a Reply