वाराणसी में विश्वस्तरीय क्रूज सेवा शुरु, अब क्रूज से करें काशी दर्शन

0

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री स्टार्ट-अप-इंडिया के तहत निर्मित विश्वस्तरीय अलकनंदा-काशी क्रूज को रविवार को हरी झंडी दिखाकर लोकार्पण किया। अब गंगा नदी में इस विशेष धार्मिक जल यात्रा सेवा के शुरु होने से देशी-विदेशी पर्यटक एवं श्रद्धालु प्रचीन धार्मिक नगरी के घाटों की अद्भुत छटा दीदार करने का मौका मिलेगा।

सोशल मीडिया का इस्तेमाल गंदगी फैलाने के लिये नहीं करने का संकल्प लें: प्रधानमंत्री

श्री योगी ने लोकार्पण के बाद क्रूज की सवारी की तथा अधिकारियों और सहयोगी मंत्रियों के साथ गंगा के उस पार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गोद लिये गांव डोमरी गए। उन्होंने गांव में आयोजित जन चैपाल में भाग लिया। वाराणसी के रामनगर क्षेत्र में स्थित इस गांव में पास अगले साल 21-23 जनवरी को प्रस्तावित प्रवासी भारतीय सम्मेलन के मद्देनजर हेलीपैड बनाने की तैयारी है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि देशी-विदेशी पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं को गंगा की लहरों से उत्तर प्रदेश की प्रचीन नगरी वाराणसी की धार्मिक विरासत का दर्शन कराने के लिए यह मनमोहक सेवा एक निजी कंपनी की ओर से शुरु की गई है। क्रूज सेवा शुरु होने से यहां के लोग खासे उत्साहित हैं। देशी-विदेशी श्रद्धालु एवं पर्यटक गंगा की लहरों से ऐतिहासिक दशाश्वमेध घाट की विश्व प्रसिद्ध शाम की ष्गंगा आरतीष् एवं असि घाट पर आयोजित होने वाले सुबह-ए-बनारस के अलावा अन्य घाटों की अद्भूत के अलावा छटा निहार सकते हैं। क्रूज पर पूजा-अर्चना एवं पार्टी करने की सुविधाएं मौजूद हैं। क्रूज पर रुद्राभिषेक करने की भी व्यवस्था की गई है।
कुछ खास है क्रूज
सर्वे में बड़ा खुलासा :TMC-BSP-SP के साथ कांग्रेस के गठजोड़ से रुक सकता है मोदी का चुनावी विजय अभियान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में विशेष प्रकार की धार्मिक जल यात्रा सेवा शुरु करने वाली निजी कंपनी कूनॉर्डिक क्रूजलाइन (वाराणसी) के प्रबंधक विवेक मालवीय ने बताया कि क्रूज में 125 लोग एक साथ सवार हो सकते हैं। दो मंजीला इस क्रूज में 60 वातानुकूलित समेत 90 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। इसमें बायोटॉयलेट एवं रसोई घर भी मौजूद है। खास बात यह कि क्रूज सेवा बारिश के मौसम में गंगा में बाढ़ जैसे हालात या गर्मी में जलस्तर गिरने से प्रभावित नहीं होगी।

सुरक्षा ऐप और मिर्च स्प्रे से बढ़ते यौन शोषण पर रोक लगाने की पहल

श्री मालवीय ने बताया कि फिलहाल यह सेवा ऐतिहासिक असि घाट से पंचगंगा घाट (दशाश्वमेध घट के पास) तक करीब 12 किलोमीटर के दायरे में ही उपलब्ध होगी और दो घंटे के लिए प्रति व्यक्ति 750 रुपये के अलावा जीएसटी देना होगा। पूरी क्रूज आरक्षित करावाने के लिए 75 हजार रुपये का भुगतान करना होगा। उन्होने बताया कि इस सेवा को आने वाले समय में कैंथी के मार्कंडेय महादेव एवं मिजार्पुर के चुनार तक विस्तार किया जाएगा जिससे पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं को और अधिक देखने-समझने का मौका मिलेगा। उन्होंने बताया कि ऐतिहासिक दशाश्वमेध सहित अन्य घाटों पर शाम को होने वाली नियमित गंगा आरती और सुबह में असि घाट पर सुबह-ए-बनारस में आने वाल हजारों श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को ध्यान में रखते हुए क्रूज सेवा शुरु की गई है। क्रूज में पार्टी, सेमिनार एवं अन्य कार्यक्रम आयोजित करने की व्यवस्था है, जिसके लिए अलग से भुगतान करना होगा। उन्होंने बताया कि जगह आरक्षित करने के लिए ऑन लाइन एवं नकद व्यवस्था की गई है। श्री मानवीय ने बताया कि श्री मोदी की पहल पर शुरु की गई प्रधानमंत्री स्टार्ट-अप-इंडिया के तहत क्रूज को कोलकता में तैयार किया गया तथा गंगा के जल मार्ग से यहां मंगवाया गया है।

सितंबर के पहले सप्ताह में सभी बैंक खुले रहेंगे : वित मंत्रालय

कांग्रेस के मंत्रियों को नोट लेते टीवी पर पूरे देश ने देखा-वसुंधरा राजे

खास खबर : अब ATM से रुपये निकालने का समय भी हुआ तय

मनोरजंन: बॉक्स ऑफिस पर यमला पगला दीवाना और स्त्री में होगा महामुकाबला

खुशखबरी: ड्राइविंग लाइसेंस सहित अन्य कागज डिजिटल रूप में भी होंगे वैध

1 करोड़ सरकारी कर्मचारियों को मोदी सरकार का तोहफा, 2 फीसदी बढ़ा महंगाई भत्ता

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply