पुलिस और आम आदमी के बीच संबंध मजबूत हों -अध्यक्ष, प्रधानमंत्री आर्थिक सलाहकार परिषद्

0
जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आर्थिक सलाहकार परिषद् के अध्यक्ष एवं नीति आयोग के सदस्य बिबेक देबरॉय ने कहा कि आमलोगों और पुलिस के बीच आपसी संबंध को मजबूत करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आम व्यक्ति जब तक बहुत जरूरी ना हो पुलिस के सामने आने से कतराता है, और पुलिस की इस छवि को बदलने की आवश्यकता है। श्री देबरॉय सोमवार को राजस्थान पुलिस दिवस के अवसर पर राजस्थान पुलिस अकादमी में ‘‘द इश्यू ऑफ पुलिस रिफोर्म‘‘ विषय पर आयोजित वार्ता को संबोधित कर रहे थे।
श्री देबरॉय ने कहा कि पुलिस में यदि भ्रष्टाचार बढ़ रहा है, तो जनता भी उतनी ही दोषी है, क्यों कि हम नियमों को तोड़ने मरोड़ने और गलत करने के बाद बचने के लिए पुलिस को रिश्वत देते हैं। उन्होंने क्रिमिनल जस्टिस के लिए पुलिस को और भी जवावदेह होने की बात कही।
उन्होने कहा कि आम आदमी अपराध होने पर ही पुलिस को याद करता है, जबकि पुलिस अपराध को होने से रोकने के लिए भी काम करती है, लेकिन उसपर किसी का ध्यान नहीं जाता। पुलिस की इस भूमिका को भी महत्त्व दिया जाना जरूरी है।
श्री देबरॉय ने अपने संबोधन में जयपुर के विधायकपुरी थाने की कार्यप्रणाली की प्रशंसा भी की। उन्होंने कहा कि हमें अपने बच्चों को पुलिस स्टेशनों की विजिट करानी चाहिये, ताकि उनमें पुलिस को लेकर किसी भी प्रकार की झिझक ना हो।
उन्होंने बताया कि देश में करीब 15 हजार पुलिस स्टेशन ऎसे हैं, जो सराहनीय काम कर रहे हैं। केन्द्र सरकार की पहल पर शहरों में पुलिस स्टेशन स्मार्ट पुलिस स्टेशन में तब्दील हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस व्यवस्था में सुधार के लिए उन्हें पूरे संसाधन दिये जाने चाहिये।
इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक ओपी गल्होत्रा ने उपस्थित जन को पुलिस दिवस की शुभकामनाएं दीं तथा राजस्थान पुलिस अकादमी के निदेशक सौरभ श्रीवास्तव ने धन्यवाद ज्ञापित किया ।
कार्यक्रम में पुलिस विभाग के अधिकारी, प्रशिक्षु पुलिस अधिकारी, पुलिसकर्मी एवं अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।  Like कीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज

Leave a Reply