बड़ी खबर: लिव – इन रिलेशनशिप के दौरान सहमति से सेक्स तो नही होगा रेप का मुकदमा: सुप्रीम कोर्ट

0
LIVE IN RELATIONSHIP, LIVE IN RELATIONSHIPnews, LIVE IN RELATIONSHIP photo

नई दिल्ली। देशभर में लिव – रिलेशनशिप में आपसी सहमति से सेक्स हुआ तो रेप का मामला नही चल सकता। सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र में नर्स द्वारा डाक्टर के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को खारिज कर दिया है, इस प्राथमिकी में बताया गया था कि वे लंबे समय लिव – इन रिलेशनशिप में थे। इस मामले में कोर्ट ने कहा कि बलात्कार और सहमति से सेक्स के बीच एक अंतर स्पष्ट है। अदालत को ऐसे मामलों में बहुत सावधानी से जांच करनी चाहिए कि क्या शिकायतकर्ता वास्तव में पीड़ित से शादी करना चाहता था या उसके पास कोई दुर्भावनापूर्ण इरादा था और झूठा वादा किया था ताकि वह अपनी वासना को संतुष्ट कर सके, जैसा कि धोखे के दायरे में आता है।

ऐसे बढ़ाएं अपने JIO 4G की इंटरनेट स्पीड, इस तरह करें सेटिंग्स में बदलाव
जस्टिस एके सिकरी और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की पीठ ने कहा कि यदि लिव – इन पार्टनर्स के बीच शादी के वादे के आधार पर सेक्स होता है और आगे चलकर पुरुष शादी नही कर पाता है तो महिला ऐसे मामलों में आपराधिक प्रक्रिया नही शुरु कर सकती। कोर्ट ने कहा कि ऐसे मामलेां को शादी के वादे से मुकर जाने के तौर देखा जाना चाहिए, न कि शादी के झूठे वादे के रुप में।
कोर्ट ने कहा कि अगर आरोपी ने पीड़िता के साथ यौन इच्छा की पूर्ति के एकमात्र उद्वेश्य से वादा नही किया तो यह मामला बलात्कार का मामला नही माना जाएगा। कोर्ट ने इसके साथ ही महाराष्ट्र के सरकारी डाॅक्टर के खिलाफ क्रिमिनल प्राॅसीडिग खारिज कर दी है, जिनमें खिलाफ उनके साथ काम करने वाली नर्स ने एफआईआर दर्ज कराई थी।
महिला ने यह कहा
पीएम मोदी ने ‘भारत रत्न’ अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में जारी किया 100 रुपए का सिक्का

इस मामले में महिला ने कहा था कि वह डाॅक्टर के साथ प्यार में पड़ गई थी और बाद में उसके साथ ही रहने लगी। जब वे दोनेंा साथ रह रहे थे तो डाॅक्टर ने भी उससे शादी करने वादा किया था। इसके बाद ही दोनां के बीच शारीरिक संबध बने थे, इसके बावजूद डाॅक्टर ने किसी अन्य महिला से शादी कर ली। इस मामले में बंबई हाईकोर्ट ने इस मामले में डाॅक्टर की अपील खारिज कर दी थी, जिसके बाद उन्हेाने सुप्रीम कोर्ट की शरण ली, जंहा उन्हे राहत मिली है।
जस्टिस एके सिकरी और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की पीठ ने कहा कि महिला ने अपनी शिकायत में कहा है वह अपने पति के गुजर जाने के बाद ही वह डाॅक्टर के संपर्क में आई और उसके प्यार में पड़ गई, जिसके बाद से ही वह दोनेां साथ रहने लग गए। ऐसी स्थिति में उस शख्स के खिलाफ रेप का मामला नही चल सकता।

सावधान : अब आपके कंप्यूटर पर रहेगी सरकार की नजर

10 हजार संविदाकर्मियों को नव वर्ष का तोहफा, कार्मिकों के मानदेय में 4 से 8 हजार रुपये की बढ़ोतरी

भगवान राम से जुड़े स्थलों का दर्शन कराएगी श्री रामायण एक्सप्रेस,16 दिन में करें अयोध्या से लंका तक का सफर

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply