सहारा इण्डिया कंपनी ने किया करोड़ों का गबन, कोर्ट में मामला, फिर भी कम्पनी जमाकर्ताओं के रिकाॅर्ड को खुर्द बुर्द करने में जुटी

0

बीकानेर। भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं सामाजिक कार्यकर्ता डूंगरसिंह तेहनदेसर ने प्रदेश की मुख्यमंत्री सहित अन्य नेताअेां को पत्र लिखकर सहारा इंडिया कपंनी द्वारा राजस्थान सहित देशभर में जनता के करोड़ेां रुपयेां के गबन करने और इसका मामला न्यायालय में होने के बावजूद कंपनी के प्रतिनिधियेां के द्वारा जमाकर्ताअेां के रिकार्ड को खुर्दबुर्द करने से रोकने की मांग की है। इसके साथ ही जिन खाताधारकों की जमा पूंजी का समय पूरा हो गया है उन्हे भुगतान दिलाने की मांग भी की है।

खुशखबरी: फ्लाइट लेट हुई तो मिलेगा 1000 रुपये का क्लेम
श्री तेहनदेसर के द्वारा जारी पत्र में बताया गया कि सहारा इण्डिया कम्पनी ने बीकानेर सहित पुरे राजस्थान भर में करोड़ों का गबन एवं वित्तीय अनियमितताएं की है। जिसके लिए राजस्थान सरकार को जनहित में कम्पनी के खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही करनी चाहिए।

सहारा इंडिया का काला कारनामा
उन्होने बताया कि सहारा कम्पनी ने सन् 1978 से खुलने के बाद अपनी जमाओं का 85 प्रतिशत जमाकर्ताओं को परिपक्वता तिथि पर भुगतान ना करके पुनः दुसरी स्कीमों में जमाकर्ताओं को गुमराह कर निवेश करवा लिया है। इसके साथ ही सहारा फाईनेन्शियल काॅरपोरेशन लिमिटेड कम्पनी के समस्त खातों को बिना जमाकर्ता के जानकारी के फर्जी पहचान पत्र एवं जाली हस्ताक्षर कर उक्त समस्त खातों को सहारा स्टार स्कीम में कनवर्ट कर लिया है। क्यों कि उक्त सहारा फाईनेन्शिल के समस्त खातों का भुगतान करने का रिजर्व बैंक आॅफ इण्डिया ने आदेश पूर्व में जारी किया था। वर्ष 2012 में सहारा रियल इस्टेट लिमिटेड एवं सहारा हाऊसिंग लिमिटेड में जमाधन जो कि उच्चतम न्यायालय में सहारा सेबी विवाद के नाम से भी जाना जाता है उक्त दोनों स्कीमों के धन को कोर्ट ने भुगतान करने के आदेश दिए थे पर उक्त जमाधन को सहारा क्यु शाॅप लिमिटेड में कनवर्ट कर लिया गया। जबकि इसके लिए भी कंपनी ने जमाकर्ता के फर्जी पहचान पत्र, फोटो एवं जाली हस्ताक्षर बिना बताये प्रयोग किये।

SBI ने बदला कैश डिपॉजिट का नियम, अब दूसरे के खाते में नहीं जमा कर पाएंगे कैश
फर्जी दस्तावेजेां का सहारा बना सहारा लिमिटेड
सहारा क्यु शाॅप स्कीम वर्ष 2018 में पूर्ण हो चुकी है माह जून एवं जुलाई में को पुनः जमाकर्ता के फर्जी पहचान पत्र, फोटो एवं जाली हस्ताक्षर करके सहारा स्टार लि. में निवेशित कर सरकार एवं कोर्ट को बेवकुफ बनाया जा रहा है। जिन बैंक खातों को कोर्ट एवं सेबी ने सीज करवा दिया है उन स्कीमों को दुसरी स्कीमों के खातों में से कम्पनी के साफटवेयर में संशोधन कर धन को इधर उधर किया जा रहा है।
नोटबंदी में भी बड़ा गबन
Spicejet कानपुर, वाराणसी से 4 नई सीधी फ्लाइट शुरू करेगी, इन शहरों के लिए सीधी उड़ान

कम्पनी ने नोटबंदी के दौरान करोड़ों रूपये के कालेधन को एफडीआर कर सफेद करने का काम किया है जिसमें कम्पनी के सेक्टर प्रमुख राजेश रोहिला एवं रीजन प्रमुख अब्दुल कामरान शामिल हैं और इस दौरान इन्होने भी खुद भी लाखों का गबन किया है।
एक वर्ष से कंपनी के कार्मिकेां को वेतन नही
राष्ट्रीय कार्यकारणी बैठक : अब 2019 के चुनाव में अजेय भारत, अटल भाजपा : मोदी

कम्पनी ने एक वर्ष के अधिक समय से कार्मिकों को वेतन का भुगतान नहीं किया है एवं कार्मिकों एवं क्षेत्रीय कार्यकर्ताओं के पीएफ खातों में करोड़ों का गड़बड़झाला है। उन्होने बताया कि मैं स्वंय कम्पनी का पुराना कार्मिक रह चुका हूं जमाकर्ता एवं कार्मिकों की जायज मांग समय समय पर उठाने पर कम्पनी के राजेश रोहिला एवं अब्दुल कामरान द्वारा झुठे मामले में फसाने की धमकी दी जा रही है।
कंपनी अपनी शाखाओं में डाटा कलेक्ट ना करके उक्त डाटा को अपने मुख्यालय या गुप्त स्थानों पर रखती है शाखा स्तर पर किसी प्रकार का कोई रिकाॅर्ड जमाकर्ता को नहीं मिलता। कम्पनी ने सहारा काॅमर्शियल काॅरपोरेशन के समस्त धन को बिना जमाकर्ता के जानकारी के फर्जी पहचान पत्र, फोटों एवं जाली हस्ताक्षर करके दुसरी स्कीमों में कनवर्ट कर लिया है। कम्पनी में करोड़ों की कालेधन की राशि विभिन्न स्कीमों में जमा है। कम्पनी ने अपने अनुसूचित जाति के कार्मिकों के नाम से ले रखी है अरबों की जमीन जिसके की मूल कागज कम्पनी के पास है।
उन्होने मुख्यमंत्री से इस जालसाज एवं चिटफण्ड कम्पनी सहारा इण्डिया पर राज्य सरकार लगाम लगाए कानूनी कार्यवाही करने एवं नई जमाओं पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने के साथ खाताधारकेां के परिपक्व खातों को भुगतान करने के आदेश जारी करवाने की मांग की है। इसके साथ ही उन्हेाने राजस्थान भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी, पूर्व मंत्री देवीसिंह भाटी, भाजयुमों (युवा संसद) के राष्ट्रीय सहप्रभारी सुरेन्द्रसिंह शेखावत को भी पत्र लिखकर इस मामले में शीघ्र कार्यवाही कराने की मांग की है।

अब कैश जमा करने के लिए SBI ने फिर बदला नियम

खास खबर : टीबी से महिलाओं और पुरुषों में बांझपन का खतरा

हाइफा आजादी का दिन :अपने पूर्वजेां के कर्मों और विरासत को सरंक्षित करने में युवा अह्म भूमिका निभाएं: सेना कमांडर

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply