रक्षा बंधन: इस राहु काल में बहनें ना बांधे भाइयों को राखी

0

स बार 26 अगस्त को रक्षा बंधन का त्योहार मनाया जाएगा। रक्षाबंधन के दिन बहने जब अपने प्यारे भाई को राखी बांधती है तो मुहूर्त का भी बड़ा महत्व होता है। इस बार ज्योतिषाचार्यों के अनुसार 4 साल के बाद ऐसा संयोग बन रहा है जब रक्षा बंधन के दिन भद्रा का साया नहीं रहेगा। रक्षाबंधन 2018ः बहने पंचक में बांधेंगी भाई को राखी, दोष से बचने के लिए 5 दिन न करें ये काम

भद्रा का साया रक्षाबंधन के दिन पहले ही समाप्त हो जाएगा। इसके अलावा रक्षा बंधन के दिन राजयोग भी बन रहा है। इसके अलावा धनिष्ठा नक्षत्र भी इसी दिन लग रहा है। साथ ही इस बार पूर्णिमा में रक्षा बंधन ग्रहण से मुक्त रहेगा जिसके कारण बहनों के लिए यह पर्व बहुत सौभाग्यशाली रहेगा। राजयोग में राखी बांधने पर बहनों का सौभाग्य और सुख समृद्धि में वृद्धि होती है और भाइयों का भाग्य चमकता है।

सर्वे में बड़ा खुलासा :TMC-BSP-SP के साथ कांग्रेस के गठजोड़ से रुक सकता है मोदी का चुनावी विजय अभियान
भद्रा का साया नहीं लेकिन राहुकाल में भूलकर ना बांधे राखी
ज्योतिष के अनुसार रक्षा बंधन पर कभी भी भद्राकाल में राखी नहीं बांधी जाती है। भद्राकाल में राखी बांधने पर अशुभ प्रभाव होता है। इस बार भद्रा का साया नहीं रहेगा। राखी बांधने के लिए सुबह से शाम तक काफी समय मिलेगा। लेकिन इस बात का खास ख्याल रखना होगा जब राहु काल हो तब राखी ना बांधे। 26 अगस्त को शाम 4.30 से 6 बजे तक राहुकाल रहेगा।

ये है राखी बांधने का शुभ मुहूर्त, भाई के कलाई पर राखी बांधने का यह है शुभ मुहूर्त

अब काठगोदाम-देहरादून के बीच नैनी-दून जनशताब्दी एक्सप्रेस

खुशखबरी: ड्राइविंग लाइसेंस सहित अन्य कागज डिजिटल रूप में भी होंगे वैध

अब ट्रेन का सफर हुआ आसान, मोबाइल से बुक होंगे जनरल टिकट

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply