राजस्थान में सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल, सरकार ने की VAT कम करने की घोषणा

0

विपक्षी दलों का भारत बंद सोमवार को

रावतसर/जयपुर/नई दिल्ली। राजस्थान सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर मूल्य वर्धित कर वैट को 4-4 प्रतिशत कम करने की घोषणा रविवार को की है। इससे राज्य में पेट्रोल व डीजल ढाई रुपये प्रति लीटर तक सस्ता होगा। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अपनी राजस्थान गौरव यात्रा के तहत हनुमानगढ़ जिले के रावतसर कस्बे में एक सभा में पेट्रोलियम ईंधन सस्ता करने वाले इस निर्णय की घोषणा की। इसके तहत राज्य में वैट पेट्रोल पर 30 से घटाकर 26 प्रतिशत और डीजल पर 22 से घटाकर 18 प्रतिशत किया गया है।

सर्वे के आधार पर दी जाएगी दावेदारों को टिकट: वसुन्धरा राजे
राहतभरी खबर
पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ी कीमतेां बाद पंजाब, कर्नाटक और हिमाचल प्रदेश की सरकारों ने पेट्रो ईंधन से वैट कम करने की घोषणा की है। इसके बाद अब राजस्थान सरकार ने भी अपने सूबे के लोगों को राहत पहुंचाने की पहल की है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि राज्य की आम जनता, किसानों व गृहिणियों को राहत देने के लिए राज्य सरकार ने यह कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि इससे सरकार को 2000 करोड़ रुपये के राजस्व की हानि होगी।
राष्ट्रीय कार्यकारणी बैठक : अब 2019 के चुनाव में अजेय भारत, अटल भाजपा : मोदी

मुख्यमंत्री ने यह घोषणा ऐसे समय में की है जबकि मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने पेट्रोल व डीजल के बढ़ते दाम के खिलाफ सोमवार को भारत बंद की घोषणा कर रखी है। पेट्रोल और डीजल की कीमतें रविवार को एक नये रिकॉर्ड पर पहुंच गईं। वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के बढ़ते दाम और रुपये में गिरावट से ईंधन की कीमतों में तेजी बनी हुई है।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी में हुआ फैसला: 2019 का चुनाव अमित शाह के नेतृत्व में लड़ेगी

सरकारी ईंधन विपणन कंपनियों द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार रविवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 12 पैसे और डीजल की 10 पैसे प्रति लीटर बढ़ गई। दिल्ली में रविवार को पेट्रोल की कीमत 80.50 रुपये और डीजल की कीमत 72.61 रुपये प्रति लीटर हो गई. यह ईंधन की कीमत का नया उच्च स्तर है। सभी मेट्रो शहरों और अधिकतर राज्यों की राजधानी के मुकाबले दिल्ली में ईंधन की कीमत सबसे कम है। ईंधन के दामों में उछाल की अहम वजह विभिन्न कारणों से कच्चे तेल के बाजार में लगातार तेजी और अमेरिकी डॉलर की रिकार्ड मजबूती है। इससे कुल मिला कर कच्चे तेल का आयात महंगा हुआ है। भारत को अपनी जरूरत का 80 प्रतिशत से अधिक तेल आयात करना होता है।
विपक्षी दलों का भारत बंद सोमवार को
सोशल मीडिया का इस्तेमाल गंदगी फैलाने के लिये नहीं करने का संकल्प लें: प्रधानमंत्री

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों ने 10 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया है। कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा कि पार्टी चाहती है कि डीजल और पेट्रोल को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के अंतर्गत लाया जाए जिससे इनकी कीमतों में 15 से 18 रुपये की कमी आएगी। उन्होंने कहा कि केंद्रीय उत्पाद शुल्क और राज्यों में अत्यधिक वीएटी (वैट) दरों में तत्काल कमी लाई जानी चाहिए। माकन ने बताया कि विरोध-प्रदर्शन में लगभग 20 राजनीतिक दल हिस्सा ले रहे हैं।

खुशखबरी : अब ऐप से किराये पर मिल सकेंगे ब्वॉय फ्रैंड
बंद के जन समर्थन को देखते हुए दबाव में आकर वैट कम किया: गहलोत
पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत ने कहा है कि मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे को कांग्रेस के कल के भारत बंद को मिल रहे जन समर्थन को देखते हुए दबाव में आकर पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करना पड़ा।
श्री गहलोत ने कहा कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ी हुई दरों को देखते हुए जो 4 प्रतिशत वैट कम किया है, वह नाकाफी है तथा रसोई पर बढ़ते महंगाई के दबाव को देखते हुए अविलम्ब गैस सिलेण्डर पर भी राहत दी जानी चाहिए।
उन्होंने कहा कि हमने कांग्रेस शासन में प्रति सिलेण्डर 25 रुपये कम किये थे। अब गैस सिलेण्डर की बढ़ी दरों को देखते हुए कम से कम 100 रुपये कम किये जाने चाहिए।

एयरो इण्डिया-2019 बैंगलुरु में 20 फरवरी से

सुरक्षा ऐप और मिर्च स्प्रे से बढ़ते यौन शोषण पर रोक लगाने की पहल

खास खबर : अब ATM से रुपये निकालने का समय भी हुआ तय

खुशखबरी: ड्राइविंग लाइसेंस सहित अन्य कागज डिजिटल रूप में भी होंगे वैध

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply