अब घर बैठे आधार से लिंक होगा मोबाइल, पांच जनवरी से बदलेंगे ये 5 नियम

0

नई दिल्ली। नव वर्ष से आधार को लेकर पिछले कई महिनों से मोबाइल सिम सहित अन्य प्रक्रियाअेां में इसकी अनिवार्यता को लागू कर दिया गया है। इसके लिए अब आपको अपनी पुरानी सिम को आधार से लिंक करने के लिए मोबाइल सिम प्रदाता कंपनी के पास नही जाना होगा आपको अपने घर से ही इसे करने की सुविधा कपंनियों की और से प्रदान की जा रही है।

Reliance JIO का न्यू ईयर धमाका : JIO रिचार्ज पर मिलेगा 3,300 रुपये का कैशबैक
ये रहेगी प्रक्रिया
दूरसंचार विभाग के मुताबिक सोमवार से सिम को आधार से लिंक कराने के लिए कंपनियों के आउटलेट का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा, बल्कि ओटीपी की मदद से यह काम घर बैठे हो जाएगा। ग्राहकों को इंटरेक्टिव वॉयस रेस्पॉन्स (आईवीआर) प्रणाली से भी यह प्रक्रिया पूरी करने की सुविधा मिलेगी। कंपनियों को 14546 नंबर का इस्तेमाल ही ओटीपी कोड के तौर पर करने की हिदायत दी गई है।

राजस्थान: निहाल चन्द गोयल मुख्य सचिव नियुक्त

इसके साथ ही बुजुर्गो, अनिवासी भारतीयों और दिव्यांगों के फोन नंबर को आधार से लिंक करने के नियमों को स्पष्ट किया है। जिस पर अमल 1 जनवरी से होगा। 70 वर्ष से अधिक के लोगों, अनिवासी भारतीय और दिव्यांगों जिनके नंबर आधार से लिंक नहीं है या आधार के लिए पंजीकृत होने के बावजूद बायोमीट्रिक प्रमाणन पूरी नहीं होने की स्थिति में कंपनियों को व्यक्तिगत रूप से प्रमाणित करने को कहा है।
पांच जनवरी से बदलेंगे ये पांच नियम
छह बैंकों के चेकबुक स्वीकार नहीं होंगे

दस हजार रुपये की रिश्वत लेते चौकी प्रभारी सहित देा कांस्टेबल गिरफतार

कोई भी बैंक सोमवार से स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ त्रवणकोर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद और महिला बैंक के चेकबुक स्वीकार नहीं करेंगे। नए साल से बिना हॉलमार्क के सोने के आभूषण को बेचा नहीं जा सकेगा। इसके लिए भारतीय मानक ब्यूरो कानून -2016 में बदलाव किया गया है। देश में सोने के आभूषण 14,18 और 22 कैरेट में ही बिकेंगे।
चिकित्सा उपकरणों पर एमआरपी जरूरी

नववर्ष -2018 पर नए लक्ष्य तय कर उन्हें हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध रहें- मुख्यमंत्री

स्टेंट, वाल्व, ऑर्थोपेडिक उपकरण, सूई और अन्य चिकित्सा उपकरणों पर अधिकतम मूल्य लिखना आवश्यक होगा।
दो हजार तक कार्ड से खरीदारी शुल्क मुक्त
केंद्र ने डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए दो हजार की खरीदारी डेबिट कार्ड से करने पर मर्चेट डिस्काउंट रेट (एमडीआर) शुल्क माफ कर दिया है। यह फैसला 1 जनवरी से दो साल के लिए रहेगा।

इनकी हिस्सेदारी 

पढ़ें: – आखिर आपका आधार कार्ड कहां-कहां हुआ इस्तेमाल, ऐसे जाने

इन बैंको में स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ), स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH), स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM), स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP), स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT) और भारतीय महिला बैंक शामिल है। इन बैंकों के एसबीआई में विलय होने के बाद ग्राहक को एसबीआई की चेकबुक लेनी होगी, ऐसे में पहले ही बैंक ने अलर्ट जारी कर ग्राहकों को जगरूर करना बेहतर समझा है। इसलिए समय रहते इन 6 बैंकों के ग्राहक अगर नई चेकबुक ले लें, नहीं तो बाद में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

कुछ समय पूर्व जिन सहयोगी बैंकों का एसबीआई में विलय किया गया है उनमें स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ त्रवणकोर और भारतीय महिला बैंक शामिल हैं। स्टेट बैंक ऑफ मैसूर में एसबीआइ का 90 फीसद हिस्सा था जबकि बीकानेर एंड जयपुर में 75.07 फीसद था। त्रवणकोर में एसबीआइ की हिस्सेदारी 79.09 फीसद है। इन सभी के ग्राहकों को भी चेकबुक के लिए आवेदन करना होगा, तभी वे इसके बाद अपना  लेन देन जारी रख सकेंगे।

अब आधार लिंक करवाने की आखिरी तारीख 31 मार्च 2018

कंही आपका Whats App तेा बंद नही हो रहा, अब 4 दिन शेष

पाइएहर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।

Leave a Reply