दाती महाराज रेप केस: दुष्कर्म पीड़िता का दर्दनाक पत्र …आखिर कब तक

0

नई दिल्ली। रेप, दुष्कर्म और धार्मिक आंडबर फैलाने वालों की हरकतों पर हमारा समाज आज भी किसी प्रकार की रोक नही लगा पा रहा है। इन धार्मिक भावनाअेां में फसाने वाले की फहरिस्त इतनी लंबी होती जा रही है कि आज भी कानून के हाथ पूरी तरह से इन पर नही पड़ रहे है। वंही आम जनता भी न जाने क्यों ऐसे पाखंडी लोगों के चंगुल में फसकर अपने बच्चेंा को इनके भरोसे पर छोड़ जाती है।

दाती महाराज रेप केस : महिलाओं पर करते थे यौन हमला…

आखिर डेरा सच्चा सेादा के राम रहीम, हिसार के रामपाल, गुजरात के आसाराम बापू सहित तमाम् ऐेसे नाम है, जिन्होने समाज व धार्मिक भावनाअेां को आहत कर खंडित किया है। ऐसा ही मामला शनिश्चर की दशा मिटाने वाले प्रसिद्व दाती महाराज पर एक 25 वर्षीय पीड़िता ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पीड़िता ने अपना दर्द एक पत्र लिखकर कुछ इस तरह से बताया।
पीड़िता का आरोप

मानवता शर्मसार: सरेराह नाबालिग लड़की के लड़केां ने उतारे कपड़े

दुष्कर्म पीड़िता का आरोप है कि दाती महाराज ने राजस्थान के आश्रम में भी उसके साथ दुष्कर्म किया। इससे परेशान होकर पीड़िता ने आश्रम छोड़कर घर जाने का फैसला किया। लेकिन वह बाबा के डर से शिकायत करने की हिम्मत नहीं जुटा पाई। किसी तरह हिम्मत जुटाकर बुधवार को पीड़िता दिल्ली स्थित फतेहपुर थाने पहुंची।
पीड़िता ने यहां उसने बाबा व उसके चेलों व महिला के खिलाफ शिकायत दी। शिकायत मिलने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने छानबीन शुरू की। जांच के बाद मामला दर्ज कर लिया गया।
दुष्कर्म पीड़िता का पत्र
पीड़िता ने पत्र में लिखा, आज आपसे उस सन्दर्भ में शिकायत करने जा रही हूं जिसे परिवार को खो देने के डर से कभी कहने की हिम्मत न कर सकी। लेकिन अब घुट-घुट कर नहीं जिया जाता। भले ही मेरी जान क्यों न चली जाए। जिसकी मुझे पूरी आशंका है, पर फिर भी मरने से पहले यह सच सबके सामने लाना चाहती हूं। बड़ी हिम्मत से पत्र लिख रही हूं, लिखते वक्त हाथ कांप रहे हैं।
विवाह समारोह में राधे मां का मदहोश डांस, सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

मानो फिर से मेरे साथ वही सबकुछ दोबारा हो रहा हो जिसके बारे में सोच कर भी डर लगता है। मुझे और मेरे परिवार को सुरक्षा प्रदान की जाए, ताकि में इस ढोंगी बाबा की सच्चाई सामने ला सकूं। अगर मुझे सुरक्षा नहीं दी गई तो यह तय है कि न मैं रहूंगी न मेरा परिवार सब कुछ खत्म हो जाएगा। दाती मदनलाल बहुत ही खतरनाक है। अब तक मैं चुप इसलिए रही कि मुझे नहीं लगता था की मेरे माता-पिता मेरा साथ देंगे, लेकिन जब बर्दाश्त से बाहर हो गया तो ये घटना अपने मम्मी-पापा को बताई तब उन्होंने वचन दिया कि आखिरी सांस तक तुम्हारा साथ देंगे।
दाती मदनलाल राजस्थानी ने अपने सहयोगी श्रद्धा उर्फ नीतू, अशोक, अर्जुन और अनिल जोशी के साथ मिलकर 9 जनवरी 2016 को दिल्ली स्थित आश्रम श्री शनि ट्रीर्थ असोला फतेहपुर बेरी महरौली में मेरे साथ रेप किया।
यह तब हुआ जब श्रद्धा मुझे चरण सेवा के लिए दाती मदनलाल राजस्थानी के पास लेकर गई। वहां मेरे साथ रेप किया गया, मेरे शरीर को हर तरह से नोचा गया। मुझे जबरन अपनी पेशाब पिलाते थे। अशोक अर्जुन और अनिल भी मेरे साथ ऐसा ही करते थे, इसके बाद यही चीजे मेरे साथ 26, 27 और 28 मार्च 2016 को राजस्थान में स्थित पाली के आश्रम में दाती मदनलाल ने दोहराई। जिसमे अनिल और श्रद्धा ने दाती मदनलाल का भरपूर साथ दिया। अनिल ने भी मेरे साथ ऐसा ही किया।

साध्वी की चिटठी जिसने डेरा प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम को भिजवाया जेल

चरण सेवा के नाम पर इन दोनों घटनाओं में शरीर के हर हिस्से को जानवरों की तरह नोचा गया और श्रद्धा हमेशा मुझे कहती रही कि इससे मोक्ष प्राप्त होगा, ये भी सेवा ही है। वो मुझे दाती मदनलाल राजस्थानी के साथ ये सब करने के लिए मजबूर करती थी। सब करने के बाद दाती मदनलाल ने मुझसे कहा, तुम्हारी सेवा पूरी हुई।
श्रद्धा कहती थी, तुम बाबा की हो और बाबा तुम्हारे, तुम कोई नया काम नहीं कर रही हो सब करते आए हैं। कल हमारी बारी थी आज तुम्हारी बारी है, कल न जाने किसकी होगी। बाबा समुंदर हैं, हम सब उसकी मछलियां है इसे कर्ज समझ कर चुका लो।
ये तीन रातें मेरी जिंदगी की सबसे भयानक रातें थी, घुट-घुट कर जीने से अच्छा एक बार लड़कर मरूं, ताकी इस भयानक गंदे राक्षस की सच्चाई सबके सामने ला सकूं। अगर मैंने ऐसा नहीं किया तो न जाने कितनी लड़कियां मेरी तरह बेबस लाचार बनकर रह जाएंगी। सेवा के नाम पर ऐसा किया गया, दाती मदनलाल राजस्थानी तंत्र-मंत्र की विधाओं में निपुण है और हमेशा अपना काम ऐसे ही करता है। इस घटना के बाद मेरी सोचने की इच्छा शक्ति मानो खत्म हो गई है।
मुझे लड़की होना पाप लगने लगा था। क्या दाती मदनलाल ने मुझे इसी दिन के लिए पढ़ाया था और साध्वी बनाया था कि एक दिन वो अशोक, अर्जुन, अनिल और श्रद्धा के साथ मिलकर मेरे साथ ये सब कर सके।

कार में प्रेमी जोड़ा कर रहा था ये काम, पड़ोसी महिला ने कराया गिरफतार
श्रद्धा के लिए पीड़िता ने लिखा, साध्वी बन सफेद पोशाक में कोई ऐसा भयानक काम भी कर सकता है, सपने में भी नहीं सोचा था। मुझे नहीं पता इस शिकायत के बाद मेरा क्या होगा। शायद मैं आप लोगों के बीच न रहूं, लेकिन मेरी शिकायत आप सभी के बीच रहेगी। सिर्फ इस उम्मीद के सहारे शिकायत पत्र लिख रही हूं, शायद मुझे न्याय मिले और जिंदगियां बर्बाद होने से बच सकें।
बाबा बन लड़कियों को पढ़ा-लिखा कर अपनी हवस का शिकार बनाने वाले दाती मदनलाल को जीने का कोई अधिकार नहीं है। मेरी एक ही इच्छा है इसके कर्मो की सजा फांसी ही होनी चाहिए। आपसे यह प्रार्थना है कि मेरा नाम, मेरी पहचान मेरा पता, सबकुछ गुप्त रखा जाए वरना उसकी दी हुई धमकियां सच हो जाएंगी, जिसमें कहा गया था कि न तू रहेगी, न तेरा अस्तित्व रहेगा, जिसके डर से मैं आजतक चुप रही।
न्याय की इच्छा मरने से पहले और मरने के बाद, जो मेरे साथ हुआ वो किसी के साथ न हो।
आखिर कब तक ……….

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मांगेगे भाजपा के लिए वेाट … आखिर ये रखी शर्त

एयर इंडिया का शानदार आॅफर: बुजुर्गों को आधे किराये में कराएगा हवाई सफर

पर्यटन : इन देशों 14 देशों में जमकर चलेगा भारतीय रुपया, बनाये घूमने का प्लान

मोबाइल उपभोक्ता इस तरह से आधार से लिंक करें अपना मोबाइल नंबर

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें।हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply