15 हजार 100 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास मजबूत सड़क तंत्र से होगी राजस्थान की कायापलट – प्रधानमंत्री

जयपुर। वीर भूमि मेवाड़ से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को जब 15 हजार 100 करोड़ रुपये की सड़क विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया तो राजस्थान की विकास यात्रा में एक सुनहरा अध्याय जुड़ गया।  उदयपुर के खेल गांव में आयोजित समारोह में प्रधानमंत्री ने एक साथ इतने विकास कार्यों के लोकार्पण और शिलान्यास को राजस्थान के इतिहास की अद्भुत घटना बताया और कहा कि जो शिलान्यास आज हुए हैं वे कार्य निर्धारित समय में पूरे होंगे जिसमें राजस्थान की कायापलट होकर रहेगी।
प्रधानमंत्री ने कोटा में चम्बल नदी पर बने 6 लेन केबल हैंगिंग ब्रिज, गोमती चौराहा से उदयपुर 4 लेन, राजसमंद-भीलवाड़ा 4 लेन सहित राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल 5 हजार 610 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण किया। समारोह में प्रधानमंत्री ने 1668 करोड़ की लागत से बनने वाले जयपुर के रिंग रोड, 1249 करोड़ रुपये की लागत के बर-बिलाड़ा-जोधपुर राष्ट्रीय राजमार्ग के 4 लेन कार्य सहित 9 हजार 490 करोड़ की राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला भी रखी।

संकट की घड़ी में केन्द्र प्रदेशवासियों के साथ
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि राजस्थान में पिछले दिनों बाढ़ के कारण जो नुकसान हुआ है उसका प्रतिवेदन राज्य सरकार ने केन्द्र को भेजा है। एक उच्च स्तरीय कमेटी राज्य का दौरा कर चुकी है। उन्होंने विश्वास दिलाया कि संकट की इस घड़ी में भारत सरकार प्रदेशवासियों के साथ है।
15 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट बदलेंगे राजस्थान का भाग्य
प्रधानमंत्री ने कहा कि 15 हजार करोड़ से ज्यादा के प्रोजेक्ट राजस्थान के भाग्य के दरवाजे खोल देंगे। उन्होंने कहा कि 5 हजार 600 करोड़ के प्रोजेक्ट मात्र 3 साल में पूरे करके हमारी सरकार ने आज इसका लोकार्पण भी कर दिया। आने वाले दिनों में 9500 करोड़ के नेशनल हाइवे के काम अकेले राजस्थान में होंगे। उन्होंने कहा कि अक्सर योजनाएं शुरू हो जाती है लेकिन उनके अटकने से उनकी लागत बढ़ती जाती है लेकिन अब ऎसा नहीं होगा। हम जो योजनाएं शुरू करेंगे उन्हें समय पर पूरा भी करेंगे।
टूरिज्म राजस्थान की ताकत
प्रधानमंत्री ने टूरिज्म को राजस्थान की एक बड़ी ताकत बताते हुए कहा कि राजस्थान के हर कोने में पर्यटकों को आकर्षित करने की नैसर्गिक क्षमता है। दुनिया का हर पर्यटक झीलों की नगरी उदयपुर, धार्मिक नगरी पुष्कर और जैसलमेर के धोरों को देखने आता है। यहां श्रीनाथ जी और एकलिंग जी की कृपा बरसती है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में सड़कों का जो जाल बिछ रहा है उसका सीधा फायदा यहां के पर्यटन को मिलेगा और इससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। प्रधानमंत्री ने वीरभूमि मेवाड़ के महानायकों वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप, भक्तिमती मीरा बाई, झाला मान, भामाशाह, हकीम खां सूर, पन्नाधाय, पाथल और पीथल को नमन किया।
जीएसटी से प्रदेश को फायदा
प्रधानमंत्री ने जीएसटी को व्यवस्था में बदलाव का सबसे बड़ा उदाहरण बताते हुए कहा कि देशवासियों ने इसके जरिए पूरी दुनिया के सामने एक अद्भुत मॉडल पेश किया है। उन्होंने कहा कि जीएसटी से राजस्थान की आय बढ़ेगी और सरकार गरीबों की भलाई के लिए और अधिक पैसा खर्च कर सकेगी।
प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में बन रहा सशक्त और समर्थ राजस्थान – मुख्यमंत्री
समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने राजस्थान के विकास में आगे बढ़कर सहयोग करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार एक नये भारत का निर्माण कर रही है। उनकी दूरगामी सोच और मजबूत इरादों से हमारा देश विश्व शक्ति के रूप में उभरा है। टीम इंडिया के महत्वपूर्ण हिस्से के रूप में टीम राजस्थान एक ऎसा सशक्त और समर्थ राजस्थान बना रही है जिसमें हर वर्ग खुशहाल हो।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में शिक्षा के वातावरण को बदला है। महिलाओं, युवाओं, किसानों, गांव और गरीब सहित समाज के हर वर्ग को केन्द्र में रखते हुए ऎसी योजनाएं क्रियान्वित की हैं, जिसका लाभ पूरे प्रदेश को मिला है। मुख्यमंत्री ने भामाशाह एवं भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, राजश्री योजना, स्किल डवलपमेंट, ग्राम, राजस्थान फेस्टिवल ऑफ एजूकेशन, शिक्षा के क्षेत्र में हुए सुधारों, डिजिफेस्ट सहित अन्य योजनाओं, कार्यक्रमों एवं गतिविधियों का उल्लेख करते हुए राजस्थान में हुए ऎतिहासिक बदलावों की जानकारी दी। उन्होंने राजस्थान के सड़क तंत्र को मजबूत करने में सहयोग के लिए केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी को धन्यवाद दिया।
नहीं रोक पाईं विधायक कीर्ति कुमारी के निधन का दर्द
मांडलगढ़ विधायक कीर्ति कुमारी के निधन का दर्द मुख्यमंत्री श्रीमती राजे प्रधानमंत्री के समक्ष भी नहीं रोक पाईं। उन्होंने बड़े दुःख के साथ भरी आवाज में कहा कि आज विधायक कीर्ति कुमारी होती तो इस सभा में हमारे बीच जरूर उपस्थित रहती। उन्होंने कहा कि विधायक कीर्ति कुमारी को भी मैंने प्रधानमंत्री जी की सभा की जिम्मेदारी दी थी लेकिन अफसोस है कि उनका स्वर्गवास हो गया। वे एक लोकप्रिय विधायक थीं जो अपने क्षेत्र की जनता की समस्याओं का समाधान कराने के लिए हर वक्त तत्पर रहती थीं।
मुख्यमंत्री ने स्वर्गीय सांसद प्रो. सांवरलाल जाट को भी इस अवसर पर याद करते हुए कहा कि वे एक बड़े किसान नेता थे। उन्होंने केन्द्र और राज्य में मंत्री रहते हुए देश-प्रदेश हित में महत्वपूर्ण योगदान दिया। उनके निधन से हमें अपूरणीय क्षति हुई है। श्रीमती राजे ने राज्य खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के चेयरमैन शम्भूदयाल बड़गूजर के निधन पर भी दुख व्यक्त किया।
3 साल में दुगुने हुए राष्ट्रीय राजमार्ग – गडकरी
केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि राजस्थान में बीते तीन साल में नेशनल हाइवे से संबंधित जितने काम हुए हैं उतने 50 सालों में भी नहीं हुए थे। प्रदेश में पहले मात्र 35 राष्ट्रीय राजमार्ग थे जो अब दोगुने से भी अधिक बढ़कर 85 हो गए हैं। पिछले तीन सालों में हमने 10 हजार 430 करोड़ रुपये की 44 बड़ी परियोजनाओं का काम पूरा किया है।
श्री गडकरी ने कहा ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर को जोड़ने वाले कोटा के हैंगिंग ब्रिज के काम की दिक्कतों को दूर कर इसे पूरा किया गया है। हमने तमाम बाधाओं को दूर कर इसे आधुनिक तकनीक से बनाया है। इसके बनने से अब भारी वाहन कोटा शहर के बाहर से निकलेंगे। इसी तरह जयपुर के रिंग रोड प्रोजेक्ट की राह में बाधाओं को दूर कर लिया गया है। हर हाल में समय पर इस प्रोजेक्ट को पूरा करने की कोशिश की जाएगी। जयपुर-दिल्ली हाइवे का 90 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है बाकी काम 6 माह में पूरा हो जाएगा।
गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कार्यक्रम की शुरूआत में प्रधानमंत्री एवं अन्य अतिथियों का स्वागत करते हुए बताया कि पिछले 3 सालों में मेवाड़ को 3300 करोड़ रुपये की सौगातें मिली हैं।
   ये रहे उपस्थित
इस अवसर पर राज्यपाल कल्याण सिंह, केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल, केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़, केन्द्रीय विधि एवं न्याय राज्य मंत्री पी.पी. चौधरी, केन्द्रीय खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति राज्यमंत्री सी.आर. चौधरी, प्रदेश के जनजाति क्षेत्र विकास मंत्री नंदलाल मीणा, सार्वजनिक निर्माण मंत्री यूनुस खान, उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी, नगरीय विकास मंत्री श्रीचंद कृपलानी, ग्रामीण विकास राज्यमंत्री धनसिंह रावत, पीएचईडी राज्यमंत्री सुशील कटारा सहित राज्य मंत्री परिषद के सदस्य, सांसद अर्जुन लाल मीणा, सी.पी. जोशी, हरिओम सिंह राठौड़ सहित बड़ी संख्या में अन्य जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।
प्रधानमंत्री को सीएम ने ‘द हिडन लाइफ ऑफ ट्रीज’ पुस्तक भेंट की
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उदयपुर से दिल्ली लौटते समय मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने राज्यपाल कल्याण सिंह के साथ महाराणा प्रताप हवाई अड्डे पर विदाई दी। श्रीमती राजे ने प्रधानमंत्री को विदाई से पूर्व वन्यजीव विशेषज्ञ पीटर वोहलिबेन की लिखी ‘द हिडन लाइफ ऑफ ट्रीज‘ पुस्तक भेंट की।
इन परियोजनाओं का किया लोकार्पण
क्र.सं. परियोजना राशि (करोड़ों में)
1. 6 लेन केबल पुल परियोजना चंबल नदी के ऊपर 278
2. 4 लेन गोमती चौराहा – उदयपुर खण्ड एन.एच. 8 1129
3. 4 लेन राजसमंद-भीलवाड़ा खण्ड एन.एच. 758 1360
2 लेन मय पटरी उन्नयन परियोजनाएं
4. भीम-परसोली खण्ड एन.एच. 148 डी 89
5. परसोली-गुलाबपुरा खण्ड एन.एच. 148 डी 98
6. लाम्बिया-रायपुर खण्ड एन.एच. 458 192
7. लाडनूं-डेगाना-मेड़ता सिटी खण्ड एन.एच. 458 301
8. बागुंडी-बाड़मेर खण्ड एन.एच. 112 200
9. फतेहपुर-सालासर-राजस्थान/हरियाणा सीमा एन.एच. 65 672
10. जोधपुर-पोकरण खण्ड एन.एच. 114 365
11. जोधपुर-पचपदरा खण्ड एन.एच. 112 244
12. नागौर बाईपास से नेतरा गांव खण्ड एन.एच. 65 का 2 लेन मय पटरी का निर्माण 301
अन्य राष्ट्रीय राजमार्गों के 48 कार्य 381
कुल लागत 5610 करोड़ रु.
इन परियोजनाओं का शिलान्यास
क्र.सं. परियोजनाएं लागत (करोड़ में)
1. 4 लेन बर-बिलाड़ा-जोधपुर खण्ड एन.एच. 112 1249
2. 6 लेन किशनगढ़-गुलाबपुरा खण्ड एन.एच. 79ए एवं 79 1184
3. 6 लेन गुलाबपुरा-चित्तौड़गढ़ खण्ड एन.एच. 79 1378
4. 6 लेन चित्तौड़गढ़-उदयपुर खण्ड एन.एच. 76 1223
5. 6 लेन नया उदयपुर बाईपास एन.एच. 8 726
6. 6 लेन उदयपुर-राजस्थान/गुजरात सीमा खण्ड एन.एच. 8 1616
7. जयपुर रिंग रोड 1668
8. 2 लेन बालोतरा-सांडेराव खण्ड एन.एच. 325 (पैकेज 2) 178
9. 2 लेन बालोतरा-सांडेराव खण्ड एन.एच. 325 (पैकेज 3) 164
10. 4 लेन सी.सी. सुरक्षा सड़क झालावाड़ शहर में 80 करोड़
11. 2 लेन आरओबी एन.एच. 709 वि. निकट सादुलपुर रेलवे स्टेशन 24
कुल लागत 9490
लोकार्पण एवं शिलान्यास का कुल योग 5610  9490 करोड़ 15100 करोड़ रु
पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।
Facebook Comments