राजस्थान:मुख्यमंत्री का बाढ़ प्रभावित जिलों का दौरा नहीं करना दुर्भाग्यपूर्ण – डूडी

मोदी राजस्थान को भी पांच सौ करोड़ रूपये का पैकेज दें – डूडी
नेता प्रतिपक्ष ने जाने बाढ़ प्रभावित जिलों के हालात
dudiजयपुर,। राजस्थान विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मांग की है कि केन्द्र सरकार राजस्थान में बाढ़ के गंभीर हालात के मद्देनजर तत्काल पांच सौ करोड़़ रूपये का विश्ेाष पैकेज दे। डूडी ने कहा है कि प्रधानमंत्री ने गुजरात का हवाई दौरा कर वहां तो पांच सौ करोड़ रूपये का पैकेज घोषित कर दिया लेकिन राजस्थान को उपेक्षित छोड़ दिया। जबकि प्रदेश के भी जालोर, सिरोही, पाली, बाड़मेर जैसे जिलों में बाढ़ की गंभीर स्थितियां बनी हुई है और हालात दिनों-दिन बिगड़ने के आसार हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री की सुस्ती को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अभी तक बाढ़ प्रभावित जिलों का दौरा तक नहीं किया है, प्रदेश की उपेक्षा का यह भी एक प्रमुख कारण है।
नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की इस बात के लिए भी आलोचना की है कि उन्होंने गुजरात के बाढ़ग्रस्त बनासकांठा इलाके का हवाई-सर्वेक्षण तो किया लेकिन गुजरात सीमा से लगते हुए राजस्थान के बाढ़ग्रस्त इलाकों की उपेक्षा की। यदि प्रधानमंत्री चाहते तो जालोर जिले के सांचौर क्षेत्र के बाढ़ग्रस्त क्षेत्र का भी जायजा ले सकते थे जिसके निकटवर्ती इलाकों का गुजरात सीमा में प्रधानमंत्री ने हवाई दौरा किया।
नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने आज दोपहर दिल्ली से लौटने के बाद बाढ़ प्रभावित जिलों में सहायता में जुटे कांग्रेसजनों व संगठनों से दूरभाष पर संपर्क कर बाढ़ के गंभीर हालात का जायजा लिया। इसके प्श्चात नेता प्रतिपक्ष ने एक बयान जारी कर कहा कि जालोर, सिरोही, पाली आदि जिलों में हालात बहुत खराब हैं। सांचोर में विश्वप्रसिद्ध पथमेड़ा गौशाला में हजारों गायों का जीवन संकट में है। वहीं इन जिलों में सैंकड़ों गांवों में जलभराव की स्थितियां हैं। माउंट आबू में करीब दो हजार पर्यटक फंसे हुए हैं। नर्मदा मुख्य केनाल, पांचला व अणगौर बांध के टूटने पर चिंता जताते हुए डूडी ने कहा कि राज्य सरकार बाढ़ से मुकाबले में जिस तरह की लाचारी दिखा रही है, उससे जाहिर है कि सरकार की कोई माकूल तैयारी नहीं थी।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री को तत्काल प्रभाव से बाढ़ प्रभावित जिलों का दौरा कर केन्द्र सरकार से विशेष पैकेज की मांग करनी चाहिए। डूडी ने कहा कि मौसम विभाग के अनुमानों के अनुसार प्रदेश में मूसलाधार बारिश का दौर अभी जारी रहेगा। इससे आशांका है कि उदयपुर, जोधपुर और कोटा जैसे संभागों में जल प्रवाह भयावह रूप ले सकता है। इसलिए राज्य सरकार को बड़े पैमाने पर आपदा प्रबंधन के लिए तैयार रहना चाहिए, वहीं जो जिले बाढ़ से ग्रस्त हैं उनमें भोजन, दवाईयां आदि पहुंचाने के साथ एवं बचाव कार्य को लेकर व्यापक कदम उठाने चाहिए।

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।

Loading...
Breaking News
राजस्थान :बुनकरों की आय बढ़े, गांव सशक्त और समृद्ध बनें-श्री मेघवाल श्रीगंगानगर: सीमावर्ती क्षेत्र में सीमा सुरक्षा बल ने पकड़ा डोडा पोस्त तस्कर राजस्थान : बेहतर सर्विस डिलीवरी से सरकार की योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुंचाएं- मुख्यमंत्री ‘उड़ान’ योजना: पहली सस्ती फ्लाइट मु्ंद्रा-अहमदाबाद के बीच शुरू पंजाब की युवती से चलती ट्रेन में गैंगरेप राजस्थान : प्रदेश का चमकता हुआ सूरज बनकर उभरेगा बाड़मेर - मुख्यमंत्री राजस्थान : केंद्रीय राज्यमंत्री के प्रयास लाए रंग: बीकानेर में बनेगा 100 बैड का ईएसआईसी अस्पताल राजस्थान :बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ: डाक विभाग ने पश्चिमी क्षेत्र के 202 गाँवों को बनाया शत-प्रतिशत सुकन्या समृद्धि ग्राम राजस्थान :अकादमी द्वारा 48 पांडुलिपियों पर 5.74 लाख रु. तथा 22 पुस्तकों पर 2 लाख 20 हजार रु. का सहयोग स्वीकृत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की सभा - महिलाएं हर चुनौती का सामना करने में सक्षम - मुख्यमंत्री