नैनोस्ट्रक्चरड मटीरियल्स फार इनर्जी स्टोरेज एप्लीकेशन्स पर एक दिवसीय इंडो-आस्ट्रेलिया कार्यशाला

जयपुर। मणिपाल विश्वविद्यालय जयपुर में एक दिवसीय इंडो आस्ट्रेलिया कार्यशाला का उद्घाटनएमयूजे के प्रेसिडेंट प्रो. संदीप संचेती एवं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि फ्लिन्डर्स विश्वविद्यालय आस्ट्रेलिया के प्रो. गुन्थर एन्डर्सन ने किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रो. गुन्थर एन्डर्सन ने बैटरी तकनीक पर अधिक अनुसंधान की आवश्यकता पर जोर दिया। फ्लिन्डर्स विश्वविद्यालय आस्ट्रेलिया के प्रो. एन्डर्सन ने कहा कि भारत और आस्ट्रेलिया की सहभागिता विशेषकर वर्तमान उर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति के क्षेत्र में अतिलाभकारी सिद्ध होगी। कार्यक्रम में मणिपाल विश्वविद्यालय के प्रेसिडेंट, प्रो. संदीप संचेती ने कहा कि भौतिकी, रसायन, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग और इलेक्ट्रोनिक्स आदि विभिन्न विषयों के अनुसंधानकर्ताओं को एक साथ आगे आने की आवश्यकता है। ताकि वर्तमान उर्जा समस्याओं का समाधान प्राप्त किया जा सके। इस अवसर पर कार्यशाला के सोविनियर का भी विमोचन किया गया। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के डीन, रिसर्च एंड इनोवेशन, प्रो. बी. के. शर्मा, डीन, फेकल्टी आॅफ साइंस, प्रो. जी. सी. टिक्कीवाल, डारेक्टर, स्कूल आॅफ बेसिक साइंसेज प्रो. ए. के. सिन्हा, डाॅ. पुष्पेंद्र कुमार ने भी कार्यशाला के मुख्य विषय पर अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के अन्त में डाॅ. एस. के. जैन ने सभी को धन्यवाद दिया।

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।