वज्र प्रहार2018:विश्व में बढ़ते आतंकवाद का समाधान खोजने के लिए किया सांझाअभ्यास

0
vajra prahar 2018

बीकानेर। भारत-पाकिस्तान अंर्तराष्ट्रीय सीमा पर भारत-अमेरिका के संयुक्त युद्वाभ्यास वज्र प्रहार 2018 में दोनेां देशों के जाबांज दुनियांभर में बढ़ते आंतकवाद को रोकने के लिए सांझा अभ्यास कर रहे है। एशिया की सबसे बड़ी फायरिंग रेंज महाजन में अभ्यास के चैथे दिन आपसी तालमेल और समझबूझ के साथ इस अभ्यास में दोनों सेनाऐं अपनी कार्य प्रणाली, एवम् प्रथाओं पर विशेष रूप से ध्यान केन्द्रित कर रही हैं।

देश का पहला ‘चिल्ड्रन लिट्रेचर फेस्टिवल’ अगले महीने बीकानेर में

Vajra prahar 2018रक्षा प्रवक्ता कर्नल संबित घोष ने बताया कि इस युद्वाभ्यास में दोनेां देशों की सेनाओं के जवान व अधिकारी दिन रात बढ़ते आंतकवाद को किस प्रकार रोका जा सके इस पर अभ्यास कर रहें है। खासतौर पर बंधक ग्रह को छुड़वाने के अपने अभ्यास को पुख्ता किया, जिसके लिए आपसी समझ एवम् समन्वय के उच्चतम स्तर की आवश्यकता होती है और एक छोटी सी गलती भी बहुत हानिकारक सिद्ध हो सकती है। उन्होंने गांव निकासी एवं बंधक बचाव का अभ्यास भी किया जिसे आने वाले दिनों में अभ्यास द्वारा पुनः पुख्ता किया जाएगा। दिन के अंत में दिन की कार्यवाही का संयुक्त विश्लेषण किया जिससे भविष्य में इन पर सुधार का सबक मिला। इन व्यक्तिगत प्रथाओं को अभ्यास के अंत में एकीकृत किया जाएगा।

बीकानेर : भारत-अमेरिका संयुक्त युद्वाभ्यास वज्र प्रहारVajra prahar 2018
उन्होने बताया कि सैन्य प्रशिक्षण के अलावा अमेरिकी कमाण्डो सेना ने प्राचीन एवम् विश्व द्वारा प्रशंसित ‘‘योग अभ्यास’’ पर भी समय बिताया और बड़ी उत्सुकता के साथ श्वास क्रिया का अभ्यास किया।Vajra prahar 2018
दिन के अंत में दोनों देश की सेनाओं ने अभ्यास क्षेत्र में बास्केटबाल का एक दोस्ताना मैच खेला।

बीकानेर: भाजपा ने रोड़ शो कर किया शक्ति प्रदर्शन

OnePlus Smartphone जानिए क्या खास है वनप्लस 6 टी में

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply