बाढ़ग्रस्त इलाकेां में सेना ने पहुंचाई खादय सामग्री, राहत एंव बचाव के काम भी जारी

0

जयपुर/जालौर। राजस्थान के अधिकतर जिलों में बरसात से बाढ़ के हालात बने हुए है। जिससे सामान्य जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हो गया है। राज्य सरकार व सेना की और से जालौर सहित कई जिलों में राहत एंव बचाव कार्या जारी है। प्रदेश की मुख्यमंत्री वसंुधरा राजे सिंधिया ने भी बाढ़ प्रभावित इलाकेां का दौरा कर जानकारी ली। वंही सेना के कोनार्क कोर के जीओसी लेफिटनेंट जनरल पी.सी.राजेश्वर ने बाढ़ प्रभावित इलाकेंा में राहत के कार्यों का जायजा लिया।
रक्षा प्रवक्ता लेफिटनेंट कर्नल मनीष ओझा ने बताया कि कोनार्क कोर के जीओसी लेफिटनेंट जनरल पी.सी.राजेश्वर ने बाढ़ प्रभावित इलाकेां में जो राहत कार्य चल रहे है उनकी जानकारी ली। उन्होने भैंसवाड़ा,अहोर एंव जालौर में प्रशासनिक व सैन्य अधिकारियेां से बाढ़ की जानकारी ली और राहत एंव बचाव कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होने सभी सैन्य अधिकारियों को हर समय यहां पर मुस्तैद रहने को कहा। इसके साथ ही सेना की और से किये जा रहे कार्यों की प्रंशसा भी की।
रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि राहत एवं बचाव कार्यों के तहत बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टर से खाद्य सामग्री एवं अन्य अति आवश्यक वस्तुएं पहुंचाई गई। उन्होंने बताया कि हेलीकॉप्टर से दो राउण्ड कर चितलवाना, खेजड़ियाली, आकुड़िया, रणोदर, रणखार, बाकासर सहित अन्य गांवों में भोजन के पैकेट, आटा, बिस्किट, पानी की बोतलें तथा खाद्य तेल सहित करीब चार टन खाद्य सामग्री और कम्बल पहुंचाए गए। यह सामग्री जोधपुर से हैलीकाप्टर से बाढ़ग्रस्त इलाकेां में भेजी जा रही है।
उन्होने बताया कि 24 जुलाई से अब तक करीब एक हजार लोगों को बचाया जा चुका है। वंही सेना की और से राहत एंव बचाव कार्य जरुरत के हिसाब से जारी रहेंगे।

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।

Leave a Reply