आनंदपाल एनकाउंटर: सांवराद में हुआ आनंदपाल का अंतिम संस्कार

सांवराद/डीडवाना/नागौर। गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउंटर मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग सहित चार सूत्री मांगों को लेकर चल रहे विवाद के बीच गुरुवार शाम कर्फयू में ढील के दौरान अंतिम संस्कार के लिए परिजनों व प्रशासन में सहमति हो गई है। इसके लिए सांय कर्फयू में ढील के अंदर आंनदपाल का अंतिम संस्कार कर दिया गया। अंतिम यात्रा में परविारजन, रिश्तेदार व समर्थक शामिल हुए। इस दौरान ग्र्रामीणों व अन्य समर्थकेां को अंतिम यात्रा में जाने की छूट रही। राज्य मानवाधिकार आयेाग ने 24 घंटे में दाह संस्कार कराने का अंतरिम आदेश दिया था।
दिन में प्रशासन व परिजनों के साथ हुई वार्ता में दोनेां पक्षों में सहमति बन गई। जिसके चलते अंतिम संस्कार का फैसला परिजनेां की और लिया गया।

पढिए क्या कहा कांग्रेस के सचिन पायलट ने :  सांवराद में उपजे हालात के लिए राज्य सरकार जिम्मेदार : पायलट
गौरतलब है कि 24 जून को करीब डेढ़ साल की फरारी के बाद पुलिस मुठभेड़ में कुख्यात अपराधी आनंद पाल सिंह एनकाउंटर में मारा गया था। परिजन मुठभेड़ पर सवाल उठाते हुए इसकी सीबीआई जांच करवाने समेत चार सूत्रीय मांग मानने पर ही उसके शव का अंतिम संस्कार करने पर अडे़े हुए थे।

इनको किया गिरफतार
सांवराद में बुधवार को हुए घटनाक्रम के दौरान कई पुलिस वाहनों के शीशे तोड़ दिए तथा जमकर उत्पात मचाया, जिस पर पुलिस ने 211 उपद्रवियों को पुलिस ने शांतिभंग में गिरफतार किया है। वंही 32 वाहनों को जब्त किया। पुलिस ने इस संबंध में धारा 147, 148, 149, 342, 363, 366, 354ए, 283, 325, 326, 435, 332, 353, 307, 397, 109, 120बी के साथ आम्र्स एक्ट एवं पीडीपीपी एक्ट में जसवंतगढ़ थाने में मामले दर्ज किए हैं। मामले की जांच मेड़ता सिटी वृत्ताधिकारी को सौंपी गई है।

जारी रहेगा कर्फयू व इंटरनेट पर प्रतिबंध
पुलिस महानिदेशक मनोज भटट ने बताया कि अभी एहतियात के तौर पर कर्फयू जारी रहेगा। पुलिस व अन्य सुरक्षा बलों का दल भी वंहा तैनात रहेगा ताकि किसी प्रकार की अप्रिय घटना ना हो सके।

14 जुलाई की रात 9 बजे तक बढ़ाई निषेधाज्ञा

बीकानेर जिला मजिस्ट्रेट अनिल गुप्ता ने जिले की समस्त राजस्व सीमाओं में 2जी/3जी/4जी डाटा, इंटरनेट सर्विस, बल्क एसएमएस, व्हाट्सऎप, फेसबुक, ट्विटर एवं इंटरनेट सेवाओं द्वारा उपलब्ध करवाई जाने वाले समस्त सोशल मीडिया (लैंडलाइन के वॉयस कॉल, मोबाइल फोन एवं लैंडलाइन इंटरनेट के सिवाय) पर प्रतिबंध के लिए निषेधाज्ञा की अवधि को 14 जुलाई की रात 9 बजे तक बढ़ाया है। इसके निर्देश जिला कलैक्टर बीकानेर, नागौर, चुरु ने जारी किये है।

सिंचाई पानी की मांग को लेकर किसानेां का पड़ाव जारी, पुलिस ने किया लाठीचार्ज, दो दर्जन किसान व एक दर्जन पुलिसकर्मी चोटिल 

जिला मजिस्ट्रेट ने दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा-144 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए निषेधाज्ञा की अवधि को बढ़ाया है। उन्होंने जिले में निवास कर रहे सभी नागरिकों को इस आदेश की पालना करने तथा अवमानना नहीं करने के निर्देश दिए हैं। यदि कोई व्यक्ति उपर्युक्त प्रतिबंधात्मक आदेशों का उल्लंघन करता है, तो वह भारतीय दंड संहिता की धारा 188 व अन्य सुसंगत विधियों के अंतर्गत अभियोजित किया जा सकेगा।

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।