अजमेर : भ्रूण लिंग जांच में लिप्त चिकित्सक सहित कम्पाउंडर गिरफ्तार

अजमेर/जयपुर। मिशन निदेशक एनएचएम एवं अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी नवीन जैन के निर्देशन में राज्य पीसीपीएनडीटी दल ने बुधवार को अजमेर शहर के रामनगर के पांचौली चौराहा के पास स्थित के.एस. अस्पताल के रजिस्टर्ड सोनोग्राफी सेन्टर में 89वीं सफल डिकॉय ऑपरेशन की। इस कार्यवाही में चिकित्सक भावन यादव व राम चौधरी कम्पाण्डर कोे पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत भू्रण लिंग जांच में लिप्त पाये जाने पर गिरफ्तार कर सोनोग्राफी मशीन भी जब्त कर ली गयी है।
श्री जैन नेे बताया कि गत दिनों से मुखबीर द्वारा अजमेर शहर के के.एस. अस्पताल में गर्भवती महिलाओं की सोनोग्राफी कर भू्रण लिंग जांच करने की सूचना प्राप्त हो रही थी। उन्होंने बताया कि सूचना की पुष्टि के बाद डिकॉय दल तैयार कर कार्यवाही की रूपरेखा तैयार की गयी। निर्धारित कार्ययोजना के तहत डिकॉय गर्भवती महिला को बोगस ग्राहक बनाकर एक अन्य सहयोगी महिला के साथ बुधवार प्रातः 11.30 बजे के.एस. अस्पताल भिजवाया गया। वहॉ मौजूद कम्पाउण्डर राम ने डिकॉय राशि 10 हजार रूपये प्राप्त कर डिकॉय महिला व सहयोगी को 12.30 बजे सोनोग्राफी जांच करने हेतु कहा।
मिशन निदेशक ने बताया कि चिकित्सक भावन यादव के आने के बाद डिकॉय महिला से कम्पाउण्डर राम ने अतिरिक्त 5 हजार रुपये और लेने के बाद डॉ. भावन यादव ने डिकॉय गर्भवती महिला की सोनोग्राफी कर भू्रण लिंग की जानकारी दी। डिकॉय दल ने गर्भवती से इशारा मिलते ही डॉ. भावन यादव व कम्पाउण्डर राम चौधरी को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से डिकॉय राशि के हू-बू-हू नम्बरी नोट भी बरामद किये।
इस डिकॉय कार्यवाही में सीआई उमेश निठारवाल, हैड कांस्टेबल डालचन्द, देवेन्द्रसिंह, शंकरलाल, अजमेर के पीसीपीएनडीटी समन्वयक ओमप्रकाश तेपण, झालावाड़ के प्रभुलाल ऎरवाल, बून्दी के राजीव लोचन गौतम, चित्तौडगढ के शफीक इकबाल शेख व कोटा की प्रमोद कंवर शामिल थे।
पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।